Home Top News Latest Updates Senior Journalist Gauri Lankesh Murder Case

पुलवामा में आतंकियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया है: CRPF

राहुल गांधी ने ट्वीट कर PM से पूछे 3 सवाल, साधा निशाना

जब ट्रंप से पूछा गया कि वो विकास कैसे करेंगे तो उन्होंने कहा मोदी की तरह: योगी

नैतिकता के आधार पर केजरीवाल और उनके MLA इस्तीफा दें: रमेश बिधूड़ी

दबाव में हैं मुख्य चुनाव आयुक्त: अलका लांबा

गौरी लंकेश हत्याकांड: एक और चौकानें वाला खुलासा..

Home | 12-Sep-2017 03:19:13 PM | Posted by - Admin

   
Latest Updates Senior Journalist Gauri Lankesh Murder Case

दि राइजिंग न्यूज़

बंगलुरु।

 

पत्रकार गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच कर रही एसआइटी ने सनातन संस्था के लोगों से भी पूछताछ की है। इस संस्था का नाम गोविंद पनसारे, कलबुर्गी और दाभोलकर की हत्या में भी सामने आया था।  दरअसल, एसआइटी को शक है कि जिन लोगों ने कन्नड़ साहित्यकार एम. एम. कलबुर्गी की हत्या की थी, उन्हीं लोगों ने ही गौरी लंकेश को मारा है।

 

इस हत्याकांड की जांच कर रहे एक अधिकारी ने बताया कि शुरूआती जांच में कुछ ऐसी बातें सामने आईं हैं, जिनसे पता चलता है कि इन हत्याओं में एक ही संगठन का हाथ हो सकता है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पत्रकार गौरी लंकेश को 7.65 mm पिस्टल से गोली मारी गई थी। वहीं कलबुर्गी को भी 7.65 mm पिस्टल से गोली मारी गई। यह बात जानकर हैरानी होगी कि 16 फरवरी, 2015 में महाराष्ट्र के कोल्हापुर में वामपंथी चिंतक गोविंद पनसारे (81) को मारने में भी 7.65 mm पिस्टल का इस्तेमाल किया गया था।

 

जांच टीम के एक अधिकारी ने बताया कि पनसारे की हत्या में इस्तेमाल एक पिस्टल से ही 20 अगस्त, 2013 को पुणे में नरेंद्र दाभोलकर (69) की हत्या की गई थी। बीते दिनों कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने भी कहा था कि गौरी लंकेश मर्डर केस की जांच कर रही एसआइटी को कुछ महत्वपूर्ण सुराग मिले हैं।  हत्यारे जल्द पुलिस गिरफ्त में होंगे।

गौरी लंकेश को शाम के समय गोली मारी गई, जबकि कलबुर्गी, पनसारे और दाभोलकर को सुबह के समय मौत के घाट उतारा गया। गौरी लंकेश की हत्या शाम को करने के पीछे यह वजह हो सकती है कि वह दिन में घर से बाहर नहीं निकलती थीं। केस की तफ्तीश में जुटी एसआईटी फिलहाल हर एंगल से मामले की जांच कर रही है।

 

कर्नाटक स्थित सनातन संस्था और एचजेएस के एक्टिविस्ट्स जांच टीम के रडार पर हैं। जांच टीम यह भी शक जता रही है कि क्या इन हत्याओं के लिए सुपारी किलर्स को हायर किया गया। जांच टीम पिछले दिनों बंगलुरु के होटलों, लॉज में ठहरने वाले लोगों की लिस्ट खंगाल रही है। साथ ही गौरी लंकेश के फोन रिकॉर्ड, उनके द्वारा लिखी खबरें, सीसीटीवी फुटेज, हाल ही में जेल से बाहर आए कैदियों पर भी निगरानी रख रही है।

 

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news