Home Top News Latest Updates Over Pradyuman Murder Case

करणी सेना का दावा, संजय लीला भंसाली ने "पद्मावत" देखने का भेजा न्यौता

MLA ने एक रुपया भी सैलरी नहीं ली: मनीष सिसोदिया

पुंछ: पाक सीजफायर उल्लंघन के चलते बंद किए गए 120 स्कूल

बिना सबूत EC ने कैसे दिया MLAs को अयोग्य घोषित करने का सुझाव: सिसोदिया

अब CJI जस्टिस दीपक मिश्रा खुद करेंगे लोया मौत केस की सुनवाई

प्रद्युम्न केस: नाबालिग का CBI पर बड़ा आरोप, कहा- जुर्म...

Home | 14-Nov-2017 09:30:06 | Posted by - Admin
   
Latest Updates over Pradyuman Murder Case

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न हत्‍याकांड के आरोपी 11वीं कक्षा के नाबालिग छात्र ने सीबीआइ पर बड़ा आरोप लगाया है। सोमवार को आरोपी की काउंसिलिंग और उसके बयान लेने पहुंची बाल सुरक्षा एवं संरक्षण अधिकारी के सामने उसने कहा, मैंने प्रद्युम्न की हत्या नहीं की है। सीबीआइ ने मुझसे यह जुर्म कबूल करने के लिए कहा है।

 

 

एक न्‍यूज पोर्टल की रिपोर्ट के मुताबिक, सीपीडब्ल्यूओ रीनू सैनी के सामने आरोपी छात्र ने आरोप लगाया, सीबीआइ ने मुझसे कहा कि यह जुर्म तुझे कबूल करना पड़ेगा। यदि ऐसा नहीं किया तो हम तेरे भाई की हत्या कर देंगे। मैं अपने भाई को बहुत प्यार करता हूं, उसे मरते हुए नहीं देख सकता। इसलिए सीबीआइ वालों ने जैसा कहा, वैसा अब तक करता रहा हूं।

 

सीबीआइ के अफसर और सीपीडब्ल्यूओ रीनू सैनी सोमवार को बाल सुधार गृह पहुंचे। वहां रीनू ने आरोपी छात्र से दो घंटे एक अलग कमरे में बातचीत की है। बातचीत में उन्होंने पूरा घटनाक्रम जानना चाहा। आरोपी ने बताया कि सीबीआइ की थ्योरी और गिरफ्तारी के आधार से बिल्कुल अलग है। उसने प्रद्युमन की हत्या नहीं की है। उससे जबरन जुर्म कबूल कराया गया है।

 

 

उधर, मृतक प्रद्युमन का परिवार अब आरोपी छात्र के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहा है। परिवार की मांग है कि 11वीं क्लास के छात्र को बालिग मानकर केस की सुनवाई की जाए। पिता वरुण ठाकुर ने कहा कि हम लोग कोर्ट में एक याचिका देने पर विचार कर रहे हैं कि आरोपी को बालिग मानकर उसके खिलाफ सुनवाई की जाए।
 

 

रद्द हो रेयान की मान्यता

वरुण ने कहा कि आरोपी छात्र ने जघन्य अपराध किया है, उसे उसी तरह सजा भी मिलनी चाहिए। इतना ही नहीं उन्होंने सीबीएसई को खत लिखकर रेयान स्कूल की मान्यता रद्द करने की मांग की है, जिस पर अभी तक कोई जवाब नहीं आया है। उन्होंने कहा कि ने सीबीएसई ने अपनी रिपोर्ट में साफ-साफ कहा था कि स्कूल के अंदर भयंकर कमियां पाई गईं।

 

 

यदि जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड ने इस मर्डर केस के आरोपी छात्र की मानसिकता का अध्ययन करने के बाद वयस्क मान लिया, तो आपराधिक रिकॉर्ड देखते हुए उसे उम्रकैद की सजा दी जा सकती है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो उसे नाबालिग मानते हुए 3 साल तक के लिए बाल सुधार गृह भेज दिया जाएगा। हालांकि, सीबीआई अधिकतम सजा की मांग करेगी।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news