Akshay Kumar Gold And John Abraham Satyameva Jayate Box Office Collection Day 2

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व आर्थ‍िक मंच के कार्यक्रम में शामिल होने दावोस रवाना हो चुके हैं। वे कार्यक्रम में उद्घाटन भाषण देंगे। इस दौरान पीएम मोदी दुनिया के सामने आर्थिक मोर्चे पर अपनी बात रखेंगे। वे भारतीय अर्थव्यवस्था और इसकी नीतियों को लेकर भी बात करेंगे। संबोधन के दौरान पीएम मोदी बदले हुए भारत की तस्वीर भी दुनिया के समक्ष रखेंगे। भारत की अर्थव्यवस्था में आई तेजी और उनकी सरकार की तरफ से उठाए गए रिफॉर्म्स को लेकर भी मोदी बात कर सकते हैं। देश में निवेश और कारेाबार के लिए उठाए गए बेहतर कदम का जिक्र कर पीएम मोदी इस कार्यक्रम में द्व‍िपक्षीय रिश्तों को सुधारने के साथ ही कई अहम मुद्दों पर चर्चा करना करेंगे।

भारत की सफलता की कहानी दुनिया को बताएंगे मोदी

एक अंग्रेजी समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू मोदी ने अपनी मंशा जाहिर करते हुए कहा था कि वह दुनिया को भारत में हुए सुधारों के बारे में बताएंगे। इंटरव्यू में मोदी ने ये भी कहा कि यह मेरा काम है कि मैं दुनिया को बताऊं कि हमारा देश नई ऊंचाइयों को छू रहा है। मुझे यह मौका मिला है, तो मैं इसका पूरा फायदा उठाउंगा।

बेहतर हुए हैं संबंध

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि पिछले कुछ सालों में बाहरी देशों के साथ भारत के संबंध काफी बेहतर हुए हैं। ये संबंध राजनीतिक, लोगों से लोगों तक और सुरक्षा समेत कई अन्य मोर्चों पर हुए हैं। पीएम इस कार्यक्रम में न सिर्फ भारत की बदली हुई तस्वीर पेश करेंगे, बल्क‍ि वह कई अहम मुद्दों पर अपने विचार भी रखेंगे।  

 

आर्थ‍िक मोर्चे पर भारत की सफलता

पीएम मोदी यहां आर्थ‍िक मोर्चे पर आते सुधार और अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं की तरफ से इकोनॉमी पर जताए गए भरोसे का जिक्र जरूर करेंगे। दावोस के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सबसे ज्यादा फोकस आर्थिक मोर्चे पर द्व‍िपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने पर होगा। पीए मोदी ने एक ट्वीट कर इस संबंध में अपनी मंशा जाहिर की। उन्होंने लिखा कि मुझे पूरा विश्वास है कि ये द्विवपक्षीय बैठकें आर्थिक रिश्तों को सुधारने में मददगार साबित होंगी।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ भारत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ भारत के सुधरे संबंधों पर भी बात करेंगे। इसके सा‍थ ही वह भविष्य में भारत के संबंध कैसे बेहतर बना सकते हैं। इसको लेकर अपने विचार रखेंगे। इस दौरान उनकी कोशिश रहेगी कि वह अंतरराष्ट्रीय समुदायों को आर्थ‍िक मोर्चे पर भारत के साथ जोड़ें।

 

सुशासन का मुद्दा

भारत में सुशासन के लिए उठाए गए कदमों का भी वह यहां जिक्र कर सकेंगे। इस दौरान वह अपनी सरकार की तरफ से उठाए गए रिफॉर्म के कई फैसलों को लेकर बात करेंगे। पीएम मोदी कार्यक्रम में वैश्व‍िक शासन की चुनौतियों और अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के ढांचे में सुधार लाने को लेकर भी अपनी बात रखेंगे।

इसका इशारा उन्होंने अपने एक ट्वीट से किया है। इसमें उन्होंने कहा है कि मौजूदा अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था और वैश्व‍िक सुशासन के ढांचे के सामने कई चुनौतियां खड़ी हैं। ये समय की जरूरत है कि दुनिया के अलग-अलग देशों की सरकारें, प्रतिनिधि और नीति निर्माता व कारोबारी इस तरफ ध्यान दें।

 

बेहतर संबंधों को मजबूत करने की कवायद

कार्यक्रम के इतर पीएम मोदी कई देशों के प्रितिनिधियों से मुलाकात करेंगे। इस दौरान वह स्विट्जरलैंड के राष्ट्रपति एलेन बेरसेट और स्वीडन के प्रधानमंत्री स्टीफन लोफवेन के साथ द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे। इस दौरान पीएम मोदी इन देशों के साथ भारत के आर्थ‍िक और सामाजिक संबंधों को मजबूती बनाने की कवायद करेंगे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll