Director Kalpana Lajmi Passed Away

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

दिल्‍ली पुलिस ने सुनंदा पुष्कर केस में कांग्रेस नेता शशि थरूर को संदिग्ध आरोपी माना है। सोमवार को पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में 3000 पेज की चार्जशीट पेश की है। इसमें आइपीसी की धारा 306 और 498A के तहत शशि थरूर को आरोपी बनाया गया है। यदि थरूर दोषी साबित हुए, तो उनको अधिकतम 10 साल की सजा हो सकती है।

प्राप्‍त जानकारी के अनुसार, आइपीसी की धारा 498A के तहत पति द्वारा महिला के साथ क्रूरता बरतना और धारा 306 के तहत आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज होता है। यदि आरोपी का दोष साबित हो जाता है, तो धारा 306 के तहत अधिकतम 10 और 498 ए के तहत अधिकतम तीन साल तक की जेल हो सकती है। हालांकि, अभी इस केस की सुनवाई शुरू होनी है।

आरोपी बनाए जाने पर शशि थरूर ने कहा, आरोप गलत हैं। मैं इसके खिलाफ लड़ूंगा। जो सुनंदा को जानते थे, उन्हें पता है कि मेरे उकसाने से वह आत्महत्या नहीं कर सकती थीं। पुलिस की मंशा पर सवाल उठते हैं। हाईकोर्ट में जांच अधिकारी ने कहा था कि उन्हें किसी के खिलाफ सबूत नहीं मिले हैं। अब छह महीने बाद वह कह रहे हैं कि मैंने खुदकुशी के लिए उकसाया।

पुलिस चार्जशीट पर बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा, इस केस से जुड़े सभी गवाहों और दस्तावेजों को यूपीए सरकार और भ्रष्ट पुलिस ने नष्ट कर दिया था। वर्तमान साक्ष्य के आधार पर यह चार्जशीट दाखिल हुई है। ट्रायल के दौरान अधिक सूचनाएं सामने आएंगी। थरूर पर आरोप हैं कि उन्होंने अपनी पत्नी को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया था।

बताते चलें कि 17 जनवरी, 2014 की रात दिल्ली के एक पांच स्टार होटल के कमरे में कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर (51) मृत मिली थीं। कथित तौर पर इससे एक दिन पहले सुनंदा और पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार के बीच ट्विटर पर बहस हुई थी। यह बहस शशि थरूर के साथ मेहर के कथित “अफेयर” को लेकर हुई थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement