Home Top News Latest Updates Of Pradyuman Thakur Murder Case

यूपी इन्वेस्टर्स समि‍ट को संबोधित कर रहे हैं PM मोदी

PNB घोटाला केस पर PIL दाखिल करने वाले याचिकाकर्ताओं को SC की फटकार

पुलिस को सरेंडर करने से पहले बोले अमानतुल्लाह- कुछ भी गलत नहीं किया

नीरव मोदी के वकील बोले- अच्छी टर्नओवर के चलते LoU जारी हुए

पंचकूला कोर्ट में गुरमीत राम रहीम की सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत की पेशी आज

प्रद्युम्न हत्याकांड: आरोपी कंडक्टर 18 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में

Home | 12-Sep-2017 01:16:25 PM | Posted by - Admin

   
Latest Updates of Pradyuman Thakur Murder case

दि राइजिंग न्यूज़

गुरुग्राम।  

 

प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी बस कंडक्टर अशोक को आज तीन दिन की पुलिस रिमांड के बाद सोहना कोर्ट में पेश किया गया। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि कोर्ट ने उसे 18 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इसी बीच रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया। उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था।

सौरभ ने कहा कि टूल किट में चाकू होने की बात कहने के लिए स्कूल मैनेजमेंट की ओर से दबाव बनाया गया था। सौरभ ने बताया, घटना के बाद उसने अशोक की शर्ट पर खून के निशान देखे थे।

 

इस बारे में पूछे जाने पर अशोक ने सौरभ से कहा कि वह खून से लथपथ प्रद्युम्न को कार तक लेकर गया था। इसी वजह से उसकी शर्ट पर खून लग गया। सौरभ की मानें तो अशोक से कई बार स्कूल का टॉयलेट इस्तेमाल करने को लेकर मना किया गया था, इसके बावजूद वह उस टॉयलेट में जाता था।

क्या है मामला

 

बीते शुक्रवार गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के मासूम प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। कत्ल का इल्जाम स्कूल बस के कंडक्टर अशोक पर लगा। पुलिस पूछताछ में अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश की थी। नाकाम होने पर पकड़े जाने के डर से उसने प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी।

असल गुनहगार को बचाने की कोशिश

 

प्रद्युम्न के माता-पिता समेत दर्जनों अभिभावकों ने मासूम की मौत के बाद इंसाफ के लिए प्रदर्शन किया। स्कूल के पास स्थित शराब की दुकान को आग के हवाले कर दिया गया। भीड़ को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, इसमें पत्रकारों समेत कई लोग घायल हुए थे। प्रद्युम्न के माता-पिता ने कहा कि असल गुनहगार को बचाने के लिए बस कंडक्टर को फंसाया जा रहा है, लिहाजा उन्होंने इस केस की जांच CBI से कराने की मांग की।

 

 

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news