Home Top News Latest Updates Of Pradhuman Murder Case In Gurugram

PNB महाघोटाला: देश के 15 शहरों में 45 ठिकानों पर ED की छापेमारी

सुकमा एनकाउंटर: नक्सलियों ने की रोड कंस्ट्रक्शन कंपनी के मैनेजर की हत्या

सनातन धर्म को लोग हिन्दू धर्म कहते हैं, यह हमसे चिपक गया है: मोहन भागवत

छत्तीसगढ़: सुकमा में नक्सलियों से मुठभेड़ में 6 सुरक्षाकर्मी घायल

PNB घोटाला: दिल्ली के साकेत मॉल, वसंतकुंज और रोहिणी में ED की छापेमारी

CBSE जांच टीम ने कहा- रेयान स्कूल गुनहगार

Home | 17-Sep-2017 01:18:20 PM | Posted by - Admin

  • टाली जा सकती थी प्रद्युम्न की हत्या

   
Latest Updates of Pradhuman Murder Case in Gurugram

दि राइजिंग न्‍यूज

गुरुग्राम।

 

काफी समय से चल रहे प्रद्युम्‍न हत्‍याकांड में एक नया खुलासा हुआ है। रायन स्कूल प्रबंधन अपने कर्तव्य और जिम्मेदारी को सही ढंग से निभाता तो हादसे (प्रद्युम्न ठाकुर की मौत) को रोका जा सकता था। स्कूल में सुरक्षा और बचाव के नियमों का पालन नहीं किया जा रहा था। इसमें कई खामियां थीं। इन बातों का खुलासा सीबीएसई की दो सदस्यीय जांच टीम की रिपोर्ट में हुआ है।

 

 

जांच रिपोर्ट के आधार पर सीबीएसई बोर्ड ने रायन स्कूल प्रबंधन को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा है कि क्यों न उसकी मान्यता रद्द कर दी जाए। स्कूल प्रबंधन को 15 दिन में नोटिस का जवाब देना है।

सूत्रों के मुताबिक, जांच टीम ने 13 सितंबर को स्कूल में जाकर छानबीन की और शुक्रवार शाम को सीबीएसई को रिपोर्ट सौंपी। जांच टीम ने माना है कि स्कूल ने सीबीएसई गाइडलाइन्स के मुताबिक व्यवस्था नहीं की थी।

 

 

प्रद्युम्न की शौचालय में हत्या की गई। स्कूल के मेन गेट से शौचालय की दूरी 50 मीटर है, उसके बाद क्लासरूम। जांच में पता चला है कि किसी ने प्रद्युम्न को जबरन शौचालय में खींचा और फिर हत्या कर दी। शौचालय की खिड़कियों में ग्रिल तक नहीं है। ऐसे में कोई भी खिड़कियों से बाहर जा सकता है।

अपनी रिपोर्ट में कमेटी ने ये तो पाया ही है कि जो टॉयलेट बच्चे इस्तेमाल करते थे वही बस स्टाफ भी करते थे। इसके साथ ही स्कूल की बाउंड्री वॉल भी टूटी पाई गई है जिसे पार कर कोई भी स्कूल के अंदर घुस सकता है।

 

 

कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि स्कूल में सीसीटीवी कैमरों की संख्या कम होने के साथ ही जो लगे हैं वो काम नहीं करते। स्कूल की घोर लापरवाही की तरफ इशारा करती ये रिपोर्ट बताती है कि स्कूल प्रशासन ने अनुपयोगी जगह जैसे खाली क्लासरूम और टैरेस को बिना लॉक किए छोड़ रखा है।​

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news