Anil Kapoor Will be Seen in The Character of Shah jahan in Next Project

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15वीं आसियान समिट के लिए तीन दिवसीय यात्रा के लिए फिलीपींस पंहुचे। इस दौरान पीएम ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। दोनों प्रमुखों की यह मुलाकात फिलीपींस की राजधानी मनीला में हुई।

 

पिछले पांच महीने में पीएम मोदी और ट्रंप की यह दूसरी मुलाकात है। इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका पहुंचे थे जहां उन्होंने ट्रंप के साथ करीब चार घंटे बिताए थे। इस दौरान पीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिजो अबे, रूस के पीएम दमित्री मेदवेदेव और मलेशिया के प्रमुख से भी मुलाकात की।

 

 

इसके साथ ही पीएम मोदी यहां 14 नवंबर को होने वाली “इस्ट एशिया समिट” का हिस्सा भी बनेंगे। बता दें कि राष्ट्रपति ट्रंप एशिया के पांच देश जापान, साऊथ कोरिया, चीन, वियतनाम और फिलिपिन्स के दौरे पर हैं।

 

फिलीपींस के लिए रवाना होने से पहले शनिवार को पीएम मोदी ने कहा था कि ये यात्रा आसियान के सदस्य देशों के साथ गहरे संबंधों के प्रति देश की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। पीएम ने कहा कि भारत-प्रशांत क्षेत्र उसकी “एक्ट ईस्ट नीति” का हिस्सा है।

 

 

पीएम मोदी ने जोर देकर कहा कि वह अपनी मनीला यात्रा को लेकर विश्वस्त हैं कि इस यात्रा से फिलीपींस के साथ द्विपक्षीय संबंधों को नई मजबूती मिलेगी।  साथ ही यह यात्रा आसियान के साथ भारत के राजनीतिक-सामरिक, आर्थिक और सामाजिक-सांस्कृतिक स्तंभों को मजबूती प्रदान करेगी। अपनी तीन दिन की यात्रा पर रवाना होने से पहले पीएम ने कार्यक्रमों की व्यापक रूपरेखा खींची।

 

पीएम आसियान-भारत और ईस्ट एशिया सम्मेलन में शामिल होने के साथ ही आसियान की 50वीं वर्षगांठ के विशेष आयोजन में भी शामिल होंगे। इसके अतिरिक्त आरईसीपी नेताओं की बैठक और आसियान व्यापार और निवेश सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। पीएम मोदी ने फेसबुक पोस्ट में कहा कि वह इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट (आइआरआरआइ) और महावीर फिलीपींस फाउंडेशन इंक (एमपीएफआइ) भी जाएंगे।

 

 

पीएम मोदी ने कहा कि आइआइआरआइ वैज्ञानिक शोध व विकास के जरिए के जरिये उन्नत किस्म के चावल के बीज तैयार करता है। इस संस्थान में कई भारतीय वैज्ञानिक काम कर रहे हैं। भारत और आसियान के बीच साल 2015-16 में 65.04 अरब डॉलर का व्यापार हुआ। यह भारत का दुनिया के साथ कुल व्यापार का 10.12 फीसदी है।

 

आसियान समूह में इंडोनेशिया, मलयेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, थाइलैंड, ब्रूनेई, कंबोडिया, लाओस, म्यांमार और वियतनाम शामिल हैं। आसियान के अतिरिक्त ईस्ट एशिया समिट में भारत, चीन, जापान, कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल होंगे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement