Home Top News Latest Updates Of Indian Bankrupt Vijay Mallya Case

शपथ ग्रहण समारोह में सोनिया, राहुल, ममता, मायावती, अख‍िलेश मौजूद

शपथ ग्रहण समारोह: अख‍िलेश यादव ने ममता बनर्जी के पैर छुए

कर्नाटक: शपथ लेने के बाद शाम 5:30 बजे KPCC जाएंगे जी परमेश्वर

शपथ ग्रहण समारोह: तेजस्वी यादव ने ममता बनर्जी के पैर छुए

शपथ ग्रहण समारोह: ममता बनर्जी ने सीएम कुमारस्वामी को गुलदस्ता भेंट क‍िया

माल्या एक्स्ट्राडीशन केस: यूके कोर्ट में 20 नवंबर को सुनवाई

Home | Last Updated : Sep 15, 2017 03:08 PM IST


  • पेश होने से मिली है छूट



Latest Updates of Indian Bankrupt Vijay Mallya Case


दि राइजिंग न्यूज़

लंदन।

 

शराब कारोबारी विजय माल्या की एक्स्ट्राडीशन केस की प्री-ट्रायल सुनवाई 20 नवंबर को होगी। यूके कोर्ट ने इसके लिए डेट फिक्स कर दी है। आपको बता दें कि माल्या के एक्स्ट्राडीशन के लिए 4 दिसंबर से ट्रायल शुरू होगा। कोर्ट ने ये भी साफ कर दिया है कि माल्या चाहें तो ट्रायल से पहले होने वाली सुनवाई में पेश न हों।

कल पेश नहीं हुए थे माल्या...

 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इकोनॉमिक ऑफेंस (आपराधिक अपराध) केस में गुरुवार को माल्या की पहली सुनवाई थी, हालांकि इसमें उनकी तरफ से परिवार की महिला मेंबर पेश हुई थीं।

 

माल्या के वकीलों ने कोर्ट को बताया कि उन्होंने 6 एक्सपर्ट्स की लिस्ट दी है, जो एविडेंस से जुड़ी जानकारियां मुहैया कराएंगे। इस लिस्ट में एक भारतीय वकील समेत एयरलाइंस, बैंकिंग, पॉलिटिक्स और लॉ एक्सपर्ट्स शामिल हैं।

ब्रिटेन की क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (CPS) भारत सरकार की तरफ से पैरवी करेगी। माल्या के बचाव पक्ष की तरफ से पेश किए डॉक्युमेंट की हार्ड कॉपी से सीपीएस ने निराशा जताई है।

 

क्या बोले सीपीएस के वकील?

 

सीपीएस के वकील मार्क समर्स के मुताबिक, "हमें सोमवार को फिजिकल एविडेंस मिले थे। इन्हें स्कैन कर भारत भेजा जाएगा। हमें इस बात को लेकर निराशा है कि फिजिकल एविडेंस 2017 में मिले।"

 

चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा लुईस ने भी सीपीएस से सिम्पैथी जताई और स्कैन्ड कॉपी मुहैया कराने की बात कही।

चीफ मजिस्ट्रेट ने प्रॉसिक्यूशन से ये भी कहा कि भारत से मंगाए गए जेल की परिस्थितियों को डिटेल को पेश किया जाए ताकि एक्स्ट्राडीशन पर विचार किया जा सके।

 

सीपीएस ने कोर्ट से कहा कि भारतीय अफसर केस को लगातार देख रहे हैं। उन्होंने उस जेल की परिस्थितियों के डिटेल और फोटोग्राफ ईमेल से भेज दिए हैं, जहां माल्या को रखा जा सकता है।

 

क्या बोले थे इंडियन हाईकमिश्नर?

 

भारतीय अधिकारियों को उम्मीद है कि उनका केस मजबूत है और उन्होंने सारे एविडेंस सीपीएस को दे दिए है। इस पर माल्या को एक्स्ट्राडाइट कराने में मदद मिलेगी।

लंदन में भारतीय हाईकमिश्नर ने कहा था, "जिस तरह से सबूत पेश किए गए हैं, उसे देखकर कहा जा सकता है कि हमने माल्या के खिलाफ मजूबती से मामला रखा है। देरी को नजरअंदाज कर दें तो दिसंबर में इस बात की संभावना है कि एक्स्ट्राडीशन को लेकर सीपीएस के वकील अपना पक्ष रखेंगे।"

 

बता दें कि माल्या 2016 से लंदन में है। भारत ने ब्रिटेन सरकार से उसके एक्स्ट्राडीशन (प्रत्यर्पण) की अपील की थी। इस पर लंदन एडमिनिस्ट्रेशन ने माल्या को रेड कॉर्नर नोटिस के आधार पर 18 अप्रैल को अरेस्ट किया था। हालांकि, उन्हें 3 घंटे में जमानत मिल गई थी। माल्या पर 17 बैंकों के 9,432 करोड़ रुपए बकाया हैं।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...