Actress Natasha Suri to Make Her Bollywood Debut

दि राइजिंग न्यूज़

चंडीगढ़।

 

बलात्कारी गुरमीत राम रहीम 20 साल जेल की सजा काट रहा है। साध्वियों से बलात्कार के अलावा भी  अदालत में उसके खिलाफ करीब आधा दर्जन संगीन मामले चल रहे हैं। इन मुकदमों में सख्त सजा का प्रावधान है, लेकिन शनिवार यानी 16 सितंबर को हत्या के दो मामलों में अहम सुनवाई बाबा के लिए मुसीबतों का सैलाब ला सकती है।

 

ये दोनों मामले पत्रकार छत्रपति और डेरे के पूर्व मैनेजर रंजीत की हत्या से जुड़े हैं। 24 अक्तूबर 2002 को सिरसा के सांध्य दैनिक पूरा सच के संपादक रामचन्द्र छत्रपति को उनके घर के बाहर गोलियों से छलनी कर दिया गया था। 21 नवम्बर 2002 को छत्रपति की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी।

इस मामले में 10 नवम्बर 2003 को सीबीआई ने डेरा प्रमुख के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की थी। आरोप है कि रामचन्द्र छत्रपति ने बाबा के खिलाफ अपने अखबार पूरा सच में खबर छापी थी। जिस कारण उनकी हत्या कर दी गई।

 

दूसरा मामला 10 जुलाई 2002 का है, जब डेरा प्रबंध समिति सदस्य रहे रणजीत सिंह की हत्या की गई थी। दरअसल, डेरा प्रबंधन को रंजीत सिंह पर साध्वी का पत्र तत्कालीन प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का शक था। इन दोनों ही मामलों में 16 सितम्बर 2017 को सीबीआई कोर्ट में सुनवाई होनी है। इन दोनों ही मामलों में गुरमीत राम रहीम को मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर सीबीआई ने नामजद किया है।

इन दोनों ही मामलों में पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में सुनवाई अंतिम दौर में है। उम्मीद है कि 16 सितंबर से इन दोनों मामलों पर अंतिम बहस शुरू हो जाएगी। डेरा सच्चा सौदा के वकील एसके गर्ग के मुताबिक गुरमीत राम रहीम को सुनारिया जेलसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश किया जाएगा।

 

वहीं इस अहम सुनवाई के मद्देनजर हरियाणा पुलिस ने पंचकूला कोर्ट परिसर के आसपास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं। कोर्ट की तरफ जाने वाले रास्तों पर हरियाणा पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है। इस अहम सुनवाई के दौरान कानून-व्यवस्था की स्थिति ना बिगड़े, इसके लिए तमाम बंदोबस्त किए गए हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll