Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्यूज़

अहमदाबाद।

 

गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले आई हार्दिक पटेल की कथित सेक्स सीडी ने राज्य में राजनीति को गरमाहट की हवा दे दी है। हार्दिक जहां इस सीडी के बाद विरोधियों के निशाने पर हैं, वहीं राज्य में दलित नेता के तौर पर उभरे जिग्नेदस मेवानी ने उनका समर्थन किया है।

 

जिग्नेश मेवानी ने ट्वीट कर हार्दिक पटेल से कहा कि परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन्होंने लिखा, “मैं आपके साथ हूं। और सेक्से का अधिकार मूल अधिकार है। किसी को भी आपकी निजता का हनन करने का हक नहीं।”

अपने ट्वीट को लेकर मेवानी भी सोशल मीडिया पर टोलर्स के निशाने पर आ गए। हालांकि मेवानी ने उन्हें भी तंज लहजे में जवाब देते हुए लिखा, “साथियों, फेसबुक के इन बॉक्स में मैसेज मत भेजो कि तुम्हारी सीडी कब आएगी! जब आएगी तब देख लेना।”

 

इस बीच सीडी प्रकरण पर प्रतिक्रिया देते हुए हार्दिक पटेल ने कहा कि इस वीडियो में खुद के होने से इनकार किया है। उन्होंने कहा, “मैं मर्द हूं, नपुंसक नहीं, जो करना होगा सीना ठोक कर करूंगा।” उन्होंने इसे लेकर बीजेपी पर गंदी राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा, “जो सेक्स सीडी सामने आई है, वह फर्जी है। यह विडियो फर्जी है और बीजेपी की गंदी राजनीति का हिस्सा है। बीजेपी ने मेरी निजी जिंदगी पर निशाना साधा है। बीजेपी में इस तरह का कारनामा करने वाले कई लोग हैं, अब मैं भी उनकी सीडी लेकर आऊंगा।”

हार्दिक पटेल ने इससे पहले सेक्स सीडी सामने आने की आशंका जाहिर करते हुए ये भी दावा किया था, “बीजेपी ने मुझे बदनाम करने के लिए डॉक्टर्ड सेक्स सीडी तैयार की है। इस सीडी को चुनाव से ठीक पहले रिलीज किया जाएगा। बीजेपी से और क्या उम्मीद की जा सकती है।”

 

हालांकि ये पहली बार नहीं है जब हार्दिक पटेल की कथित सेक्स सीडी सामने आई है। 2015 में आरक्षण आंदोलन की शुरुआत के तुरंत बाद भी ऐसी ही एक सेक्स सीडी रिलीज की गई थी। हालांकि, हार्दिक ने उस वीडियो क्लिप को कहीं चैलेंज नहीं किया था।

वहीं हार्दिक पटेल के पुराने साथी रहे अश्विन पटेल का आरोप है कि हार्दिक के पाटीदार आरक्षण आंदोलन के साथियों के भी ऐसे ऑडियो क्लिप हैं। अश्विन पटेल का दावा है कि हार्दिक समाज को गुमराह कर रहे हैं।

 

बता दें कि पटेलों को आरक्षण के लिए पाटीदार अनामत आंदोलन समिति लंबे वक्त से संघर्ष कर रही है। गुजरात में पाटीदारों के आंदोलन पर फायरिंग और पुलिस बल के इस्तेमाल के बाद पटेल बीजेपी सरकार के खिलाफ हमलावर हैं। ऐसे में अब कांग्रेस उनकी नाराजगी का सियासी फायदा उठाने की कोशिश कर रही है, जिसके तहत पाटीदारों और कांग्रेस के बीच कई मसलों पर डील हो चुकी है। हालांकि, अभी तक हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को चुनाव में समर्थन का आधिकारिक तौर पर ऐलान नहीं किया है। उससे पहले ही हार्दिक खुद घेरे में आते दिख रहे हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement