Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्यूज

कर्नाटक।

 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक के रायचूर में सोमवार को एक रैली को संबोधित करने के दौरान केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि देश में दो तरह की सरकारें होती हैं। एक सरकार ऐसी होती है जो 5-10 उद्योगपतियों को राष्ट्रीय संपदा सौंप देती है और दूसरी सरकार इस संपदा को फिर से वितरित करती है। बीजेपी की जहां भी सरकार बनी, सारा पैसा उद्योगपतियों को दे दिया गया।

 

राहुल ने कहा, “जब सचिन तेंदुलकर खेलते हैं तो गेंदबाज को देखते हैं, सिद्धारमैया गेंद को देखते हैं और मोदी विकेटकीपर को देखते हैं। इसलिए, जब भी गेंद आती है तो उनसे गड़बड़ी हो जाती है। इसी तरह नोटबंदी हुई। किसानों और आदिवासियों पर इसका असर पड़ा। मोदी गब्बर सिंह टैक्स (GST) ले आए। उन्हें युवाओं ने भविष्य सुधारने, बेरोजगारी और किसानों की समस्या दूर करने के लिए चुना था और वह पुराने समय की बात कर रहे हैं। मेरा मोदी से कहना है कि पुराने समय की बात न करें, हमें ये बताएं कि रोजगार कैसे पैदा करेंगे।”

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी ने खुद स्वीकार किया है कि कर्नाटक रोजगार देने में सबसे आगे है। उन्होंने कहा कि मोदी को सिद्धारमैया से सीखना चाहिए, उन्होंने किसानों का कर्ज माफ किया, गरीबों के लिए इंदिरा कैंटीन खोली, आंगनवाड़ी और आशाओं का वेतन बढ़ाया।

 

राहुल ने कहा, “नोटबंदी और जीएसटी ने छोटे कारोबारियों को बर्बाद कर दिया। केवल एक कंपनी का कारोबार 50 हजार रुपये से 80 करोड़ रुपये हो गया। वह कंपनी अमित शाह के बेटे की है। मोदी लोगों को रोजगार नहीं देते हैं और उनसे स्टार्ट अप शुरू करने को कहते हैं। उन्होंने अपने दोस्त अमित शाह के बेटे को अच्छी स्टार्ट अप कंपनी दी है।”

राहुल ने इस रैली में कहा, “कर्नाटक आने से पहले मैंने गुजरात का दौरा किया। मैं जिन भी आदिवासी इलाकों में गया, लोगों ने कहा कि उनकी जमीन छीनकर उद्योगपतियों को दे दी गई है। मैं आपको दो उदाहरण दूंगा। एक कंपनी ने गरीबों से 35 हजार एकड़ जमीन ले ली। उन्होंने गरीबों से कहा कि सरकार जमीन उन्हें देना चाहती है। उन्हें जमीन की कीमत एक रुपया प्रति वर्ग मीटर जमीन की मिली। एक महीने बाद वही जमीन उद्योगपतियों ने 3000 रुपये प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से सरकारी कंपनियों को बेच दी। मोदी सरकार ने जमीन उद्योगपतियों को दी और वापस उनसे खरीद ली।”

 

उन्होंने कहा, “दूसरी घटना, एक कंपनी को नैनो बनाने के लिए 35 हजार करोड़ रुपये मिले। यह जमीन गरीबों और आदिवासियों से ली गई थी। जिस पैसे को कांग्रेस मनरेगा में देने वाली थी, वह नैनो की कंपनी को दे दिया गया। लेकिन आज देश में कहीं भी टाटा नैनो नहीं दिखाई देती है। क्या नैनो कर्नाटक में दिखाई देती है? सिद्धारमैया ने एससीपी-टीएसपी के लिए 27 हजार करोड़ रुपये दिए और मोदी सरकार ने पूरे देश के लिए 55 हजार करोड़ रुपये दिए। यानी पूरे देश का आधा तो कर्नाटक को मिला। बीजेपी ने जहां भी सरकार बनाई, दलित-आदिवासियों का पैसा ले लिया।”

राहुल ने कहा कि वह किसानों की बात करना चाहते हैं, लेकिन बीजेपी केवल उद्योगपतियों के लिए काम करती है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि भारत में कहा जाता है कि उसका चीन से मुकाबला है, लेकिन कमीज, कैमरा, कार हर चीज मेड इन चाइना दिखाई देता है। यह नरेंद्र मोदी का सच है। राहुल ने कहा कि बीजेपी ने किसानों का कर्ज माफ नहीं किया, नौकरियां नहीं दीं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement