Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

केरल के कथित लव जिहाद मामले में जांच कर रही नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआइए) ने एक नया मोड़ ला दिया है। एजेंसी ने अपनी चार्जशीट में हादिया के पति शफीन पर आरोप लगाया है कि वह शादी से पहले से ही आतंकी संगठन आइएसआइएस के दो संदिग्धों के संपर्क में था।

मनसीद और शफान नाम के वे लड़के उमर अल हिंदी केस में आरोपी बनाए गए हैं। उन दोनों के खिलाफ दायर चार्जशीट के मुताबिक, हाईकोर्ट के जज, पुलिस अफसर और कई राजनेता उनके निशाने पर थे।

 

 

जांच के मुताबिक, शफीन एक फेसबुक ग्रुप के जरिए दोनों से बात करता था, उस ग्रुप में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआइ) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआइ) से संबंधित बातें हुआ करती थीं।

 

एनआइए का मानना है कि हादिया और शफीन को मिलवाने का काम waytonikah.com नाम की वैवाहिक वेबसाइट ने ही बल्कि मनसीद ने ही किया था। वहीं अबतक हादिया और शफीन दावा करते रहे हैं कि उनकी मुलाकात वेबसाइट के ही जरिए हुई थी।

 

 

शफीन ने 19 सितंबर 2015 को अपनी आइडी बनाई थी, वहीं हादिया की आइडी 17 अप्रैल 2016 को बनी थी। खबर के मुताबिक, हादिया ने 17 अप्रैल से 23 अप्रैल के बीच 49 लोगों की प्रोफाइल्स को देखा था जिसमें शफीन शामिल नहीं था।

वहीं शफीन ने 67 लोगों की प्रोफाइल देखी थी जिसमें हादिया की प्रोफाइल शामिल नहीं थी। दोनों ने 31 दिसंबर 2016 तक दोनों में से किसी की भी प्रोफाइल नहीं देखी थी, जबकि उस वक्त तक दोनों शादी कर चुके थे।

 

 

बता दें कि हादिया और शफीन ने दिसंबर 2016 में शादी की थी जिसके बाद हादिया के पिता केरल हाई कोर्ट पहुंचा जिसके बाद दोनों की शादी को रद्द कर दिया गया था। फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रही है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement