Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्यूज़

अहमदाबाद।

 

गुजरात में सत्ता बरकरार रखने की कोशिश में जुटी भारतीय जनता पार्टी ने एंटी इनकंबेंसी यानि सत्ता विरोधी लहर की काट के लिए नया प्लान बनाया है। सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी विधायक रह चुके अपने नेताओं का इस बार चुनाव में टिकट नही देगी। सूत्रों ने साथ ही बताया कि पार्टी वैसे युवा नेताओं को इस फॉर्मूले से छूट दे सकती है, जिन्होंने अपने क्षेत्र में लोकप्रियता बनाए रखी हैं।

लोगों में दिख रही नाराजगी

 

दरअसल इस बार गुजरात में लोगों के बीच सत्ताधारी पार्टी को लेकर एक तरह का गुस्सा भी देखा रहा है, जिसे भुनाने में कांग्रेस जोर-शोर से जुटी है। पिछले दिनों वहां सोशल मीडिया पर “विकास गांडो थयो छे” भी ट्रेंड कर रहा था, जहां लोग राज्य में हुए विकास का मजाक उड़ा रहे थे। राज्य के पाटीदारों में बीजेपी का विरोध मुखर होकर सामने आ रहा है। बीजेपी कार्यकर्ताओं के लिए पाटीदार इलाकों में “धारा 144”  लगा दिया गया है।

 

कई पाटीदार इलाकों में इस तरह के बैनर लगाए गए हैं कि बीजेपी वाले यहां वोट मांगने न आएं। सूरत के कई पाटीदार बहुल सोसाइटी में इस तरह के बैनर लगाए गए हैं। प्रचार के लिए पहुंचे बीजेपी कार्यकर्ताओं को भगाया जा रहा है, कार्यकर्ताओं का कहना है कि उनके ऊपर अंडे भी फेके गए। ऐसे लोगों के बीच सत्ताधारी पार्टी के विधायकों को लेकर भी नाराजगी देखी जा रही थी। ऐसे में पार्टी ने लोगों की नाराजगी दूर करने के मकसद ऐसे विधायकों के टिकट काटने का फैसला किया है।

दिल्ली निकाय चुनाव में हिट रहा था फॉर्मूला

 

इससे पहले दिल्ली निकाय चुनाव में भी बीजेपी ने यह फॉर्मूला आजमाया था। दिल्ली के नगर निकायों में लगातार तीन बार से काबिज बीजेपी ने अपने तमाम मौजूदा पार्षदों के टिकट काटकर नए उम्मीदवार खड़े किए थे। पार्टी ने इस तरह अपने पार्षदों को लेकर लोगों के गुस्से का काट किया। बीजेपी को इसके साकारात्मक नतीजे भी देखने को मिले और पार्टी ने एमसीडी के तीनों जोन में बड़ी जीत हासिल की थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement