Home Top News Latest And Trending Updates Over Air Pollution In Delhi

गुरुग्राम: बीजेपी नेता सूरज पाल अम्मू के खिलाफ दर्ज हुई FIR

J-K: हंदवाड़ा मुठभेड़ में तीन लश्कर आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

WB: 24 परगना के एक आश्रम से 25 अंडर ट्रायल किशोर फरार, 7 पकड़े गए

लुधियाना अपडेट: जिला आयुक्त ने बताया निकाले गए 10 शव, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

तमिलमनाडु: रामनाथपुरम में 4 भारतीय मछुआरों को श्रीलंका नेवी ने किया अरेस्ट

दिल्ली वासियों को राहत नहीं, फिर जहरीली हुई हवा

Home | 12-Nov-2017 09:30:41 | Posted by - Admin
  • आंकड़े चिंताजनक
   
Latest and Trending Updates over Air Pollution in Delhi

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्ली।

 

देश की राजधानी दिल्ली में रहने वाले लोगों को अभी वहीं की जहरीली हवा से राहत मिलती नहीं दिख रही। शनिवार दोपहर मामूली सुधार के बाद हवा की गुणवत्ता फिर से खतरनाक स्तर पर पहुंच गई। लोगों की जिंदगी पर छाई धुंध को कम करने को लेकर सरकार दावे तो कई कर रही है लेकिन उसका असर कहीं भी दिखाई नहीं दे रहा।

 

 

वहां के लोग इस हवा को कई दिनों से झेलने के लिए मजबूर हैं वहीं इस मुश्किल से निजात दिलाने के सरकार के सब दावे पूरी तरह से फेल हैं। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड यानि सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार दोपहर हवा की गुणवत्ता को खराब करने वाले तत्व पीएम 2.5 का स्तर 290 पर आ गया था जो आपात स्तर 300 से थोड़ा कम था वहीं पीएम 10 भी आपात स्तर 500 से घटकर 490 पर पहुंच गया था।

 

हवा में आए इस सुधार से लोगों ने अभी राहत की सांस ली ही थी कि एक बार फिर धुंध ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया। शनिवार दोपहर 2 बजे के बाद दिल्ली की फिजा में फिर से जहर घुलना शुरू हो गया। देर रात तक पीएम 10 का स्तर 600 के करीब पहुंच गया जबकि पीएम 2.5 का भी बढ़कर 400 अंकों के करीब पहुंच गया।

 

 

वायु गुणवत्ता का आंकलन करने वाली केंद्रीय एजेंसी सफर ने भी इस बदलाव पर चिंता जताई है। हालांकि सफर के परियोजना निदेशक गुफरान बेग को उम्मीद है कि पराली जलाने से उठे धुंए के एक-दो दिन में छंटने के बाद दिल्ली के लोगों को थोड़ी राहत मिल सकती है।

 

 

दिल्‍ली सरकार का ऑड-ईवन पर यू-टर्न

इस बीच पराली को ही इस परेशानी का जिम्मेदार बताने वाली दिल्ली सरकार ने ऑड-ईवन पर यू-टर्न ले लिया है। दिल्ली सरकार शर्तों के साथ ऑड-ईवन लागू न करने के पीछे महिला सुरक्षा का हवाला दे रही है। हालांकि परिवहन से जुड़े एक्सपर्ट्स की मानें तो दिल्ली के खराब ट्रांसपोर्ट सिस्टम के चलते केजरीवाल सरकार अपने फैसले को पटलने को मजबूर हुई है।

केंद्र का आरोप है कि वायु प्रदूषण को काबू में करने के लिए केजरीवाल सरकार कोताही बरत रही है और ऑड-ईवन के नाम पर सिर्फ दिखावा कर रही है। उधर, एनजीटी के आदेश के बाद गाजियाबाद में 65 फैक्ट्रियां बंद कराई गईं हैं, इसमें भूषण स्टील और डाबर की फैक्ट्री भी शामिल हैं।

 

 

इन कोशिशों के बीच दिल्ली के आसामान में छाई धुंध ने अब दुनिया को भी अलर्ट कर दिया है। अमेरिका की यूनाइटेड एयरलाइंस ने हवा की खराब गुणवत्ता का हवाला देकर दिल्ली की उड़ानें अस्थाई तौर पर रद्द कर दी हैं। साफ जाहिर है कि खराब हवा से आई ये मुश्किल दिनों दिन अपना दायरा बढ़ाती जा रही है वहीं सरकार के कदम अपना असर नहीं दिखा पा रहे हैं जिससे दिल्ली वालों की जान पर मुश्किल बनी हुई है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555



संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...



TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news

खेल-कूद