Home Top News Latest And Trending Updates Of Sohrabuddin Encounter Case

दावोस में कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो से मिले पीएम नरेंद्र मोदी

गुजरात निकाय चुनाव की तारीखें घोष‍ित, 17 को वोटिंग, 19 फरवरी को काउंटिंग

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और सुरेश प्रभु ने की PM मोदी के भाषण की तारीफ

कुंदुली रेप पीड़‍िता द्वारा स्यूसाइड कर लेने के मामले में बीजेपी ने बुलाया ओडिशा बंद

मौसम ने मारी पलटी, शिमला में हुई बर्फबारी

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस: जज बीएच लोया की संदिग्ध मौत का मामला “गंभीर”

Home | 12-Jan-2018 14:20:57 | Posted by - Admin
  • SC ने फडणवीस सरकार को दिए सभी दस्तावेज पेश करने के आदेश
   
Latest and Trending Updates of Sohrabuddin Encounter Case

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

आज सुप्रीम कोर्ट सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे सीबीआइ के विशेष जज बीएच लोया की मौत की जांच संबंधी याचिका पर सुनवाई कर रही है। कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से जज की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मांगी है। कोर्ट का कहना है कि यह मामला काफी गंभीर है। अब इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी। कोर्ट ने फडणवीस सरकार से इस मामले से संबंधित सभी दस्तावेजों को सोमवार को पेश करने के लिए कहा है।

 

 

जज लोया की एक दिसंबर, 2014 को मौत हुई थी। महाराष्ट्र के पत्रकार बीआर लोन ने उनकी मौत की जांच कराने के लिए शीर्ष अदालत में याचिका दायर की है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविल्कर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की पीठ ने बीते गुरुवार को इस याचिका पर शीघ्र सुनवाई के अनुरोध को स्वीकार कर लिया था।

 

 

याचिका में कहा गया है कि सोहराबुद्दीन मुठभेड़ के संवेदनशील मामले की सुनवाई कर रहे जज लोया की रहस्यमय मौत की निष्पक्ष जांच की जरूरत है। इस मामले में कई पुलिस अधिकारियों और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को पक्षकार बनाया गया था।

 

 

बता दें कि जज लोया एक दिसंबर, 2014 को नागपुर में अपने सहकर्मी की बेटी की शादी में शामिल होने गए थे। वहीं हार्ट अटैक के कारण उनकी मृत्यु हुई थी। यह मामला तब सुर्खियों में आया जब पिछले साल नवंबर में लोया की बहन ने इसे सोहराबुद्दीन केस से जोड़ते हुए उनकी मौत की परिस्थितियों पर शक जाहिर किया।

 

 

गुजरात में 2005 में सोहराबुद्दीन शेख, उसकी बीवी कौसर बी और उसके दोस्त तुलसीराम प्रजापति की तथाकथित फर्जी मुठभेड़ में मौत के मामले में पुलिस अधिकारियों समेत 23 आरोपियों के खिलाफ सुनवाई चल रही है। इस मामले को बाद में सीबीआइ को स्थानांतरित कर दिया गया और केस की सुनवाई भी मुंबई शिफ्ट कर दी गई थी।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news