Second Teaser of Movie Sanju  Released

दि राइजिंग न्‍यूज

नौगाम।

 

जम्मू-कश्मीर में अ‍मरनाथ यात्रियों पर हुए हमले को शायद ही कोई भूल पाया हो, लेकिन जिस आतंकी ने इस हमले को प्‍लान किया था आज वह भी मारा गया। नौगाम में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी आतंकी अबु इस्माइल को मार गिराया है। इसमें इस्माइल के अलावा एक और आतंकी मारा गया।

सीआरपीएफ और कश्मीर पुलिस ने इसे बड़ी कामयाबी बताया। लंबे वक्त से सिक्युरिटी फोर्सेस को अनंतनाग में अमरनाथ यात्रियों पर हमले के मास्टरमाइंड अबु इस्माइल की तलाश थी। इस्माइल पाकिस्तान का रहने वाला था और तीन साल से कश्मीर में एक्टिव था। उधर, बांदीपोरा में भी गुरुवार रात हिज्बुल के आतंकी जमीर अहमद को किरफ्तार किया गया। उसके पास से हथियार मिले हैं।

 

कश्मीर के आईजी मुनीर खान ने कहा, "सिक्युरिटी फोर्सेस को आतंकवादियों के बारे में खबर मिली थी। पुलिस, राष्ट्रीय रायफल्स और सीआरपीएफ ने नौगाम एरिया में सर्च ऑपरेशन चलाया। एरिया को पूरी तरह सील कर दिया गया था। 4.15 बजे ऑपरेशन शुरू किया गया। एनकाउंटर टीम को बधाइयां। उन्हें इस ऑपरेशन को पूरा करने में मुश्किल से आधा घंटा लगा। वो (अबु इस्माइल) हमारा प्राइम टारगेट थ।"

 

 

सीआरपीएफ के डीजी राजीव भटनागर ने कहा, "ये बहुत बड़ी कामयाबी है। अमरनाथ अटैक के बाद से ही कश्मीर की पुलिस अबु के पीछे लगी हुई थी। वो दूसरे कुछ हमलों में भी शामिल था। ऑपरेशन में मारे गए आतंकियों की पहचान कई तथ्‍यों के आधार पर की गई। इसमें एक अबु इस्माइल और दूसरा अबु कासिम था। दोनों ही लश्कर के आतंकवादी थे। इनके पास से दो एके-47,UBGLs और दूसरे हथियार बरामद किए गए।"

 

जम्मू कश्मीर में आतंक का पर्याय बन चुके लश्कर कमांडर अबु दुजाना को इस साल पहली अगस्त को सुरक्षाबलों ने एक मुठभेड़ में मार गिराया था, जिसके बाद अबु दुजाना की जगह कश्मीर में अबु इस्माइल को लश्कर का नया कमांडर बनाया गया था।

 

कौन है अबु इस्‍माइल?

अबु इस्माइल अनंतनाग और आसपास के इलाकों में लश्कर का कमांडर था। इसी साल अमरनाथ यात्रियों पर हमले का सूत्रधार और उसे अंजाम देने का आरोप इस्माइल पर था। हमले में सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी।

करीब 22 साल का इस्माइल पाकिस्तान में मीरपुर का रहने वाला था और पिछले चार साल से वह अनंतनाग और उसके आसपास के इलाकों में सक्रिय था।

 

 

वहीं घाटी में पिछले साल हुई बैंक लूट की कम से कम चार वारदातों में इस्माइल का नाम सामने आया था। खुफिया जानकारी के मुताबिक अक्टूबर के महीने में कुलगाम में बैंक लूट, नवंबर के महीने में बड़गाम बैंक लूट और दिसंबर के महीने में पुलवामा में दो बैंक लूट की घटना में सीधे तौर उसकी भूमिका सामने आई थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll