Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्‍यूज

रांची।

 

बहुचर्चित देवघर चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल कैद की सजा मिलने के बाद उन्हें रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार होटवार से हजारीबाग के ओपन जेल में भेजने की तैयारी शुरू हो गई है। सजा सुनाने के बाद सीबीआइ स्पेशल कोर्ट के जज जस्टिस शिवपाल सिंह ने लालू यादव को हजारीबाग के ओपन जेल में शिफ्ट करने की अनुशंसा की थी।

 

 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव समेत अन्य 16 कैदियों को जल्द ही हजारीबाग की ओपन जेल भेज दिया जाएगा। हजारीबाग स्थित ओपन जेल का उद्घाटन 2013 के नवंबर में हुआ था। इस जेल में लालू समेत सभी कैदियों को रांची जेल की तुलना में कुछ ज्यादा सुविधाएं मिल सकती हैं।

 

हजारीबाग ओपन जेल में 100 कॉटेज हैं। हर कॉटेज में किचन और अटैच्ड बाथरूम की सुविधा मौजूद है। इन जेल में बने 100 कॉटेज में 100 कैदी अपनी पत्नी और एक छोटे बच्चे के साथ रह सकते हैं। हर एक कॉटेज में पीने के साफ पानी के लिए आरओ सिस्टम भी लगा हुआ है।

 

 

रांची में सजा के ऐलान से पहले लालू ने जज से शिकायत की थी कि उन्हें रांची के बिरसा मुंडा जेल में साफ पीने का पानी नहीं मिल रहा है। अब हजारीबाग की ओपन जेल में लालू यादव की यह शिकायत खत्म हो सकती है।

 

सीबीआइ के स्पेशल जज जस्टिस शिवपाल सिंह ने सजा के ऐलान के समय टिप्पणी की थी कि, लालू समेत सभी 16 दोषी चारा घोटाले के आरोपी हैं, इसलिए अगर वह गाय और भैंस के बीच रहेंगे, तो ज्यादा अपनापन महसूस करेंगे।

 

ओपन जेल में गाय और भैंस चरते हैं। यही सोचकर शायद जज ने लालू यादव समेत सभी दोषियों को ओपन जेल भेजने की अनुशंसा की थी। हजारीबाग जेल प्रशासन ने इस बात की पुष्टि की है कि बहुत जल्द ही इस जेल में 10 से 12 गाय और भैंस लाई जाएंगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement