Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्ली।

 

बीजेपी के सियासी तरकश में राम मंदिर मुद्दा नये ब्रह्मास्त्र के रूप में मिल गया है। इस मुद्दे का चुनावी महत्व आप महज इस बात से निकाल सकते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह कल से ही इस मुद्दे पर कांग्रेस पर लगातार हमलावर हैं। वहीं पर कपिल सिब्‍बल पर पीएम मोदी के हमला करने के बाद सिब्‍बल ने पलटवार किया है।  

 

 

सिब्बल ने कहा, "प्रधानमंत्री को देश की नहीं मंदिर की चिंता है। उन्होंने देश से जो वादे किए हैं पहले वो पूरे करें। राम मंदिर मोदी के कहने से नहीं भगवान के कहने से बनेगा, फिलहाल मामला अभी कोर्ट में हैं। मुझे दु:ख है कि गुजरात में बेरोजगारी का मुद्दा है, किसान की आत्महत्या का मुद्दा है। इन बातों की मोदी जी को फिक्र नहीं है उन्हें इस बात की फिक्र है कि अदालत में क्या हुआ। क्या मेरे कोर्ट या किसी और के कोर्ट में पेश होने से ये दिक्कतें खत्म हो जाएंगी। मोदी जी जो बयानबाजी कर रहे हैं वो देश के हित में नहीं है।''

 

 

दरअसल, सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट में कहा था राम मंदिर पर सुनवाई जुलाई 2014 तक टाल दी जाए। जब कोर्ट ने सिब्बल से पूछा कि क्या आपके बयान को रिकॉर्ड पर लिया जाए तो उन्होंने मना कर दिया था। सिब्बल के इसी बयान को प्रधानमंत्री और बीजेपी ने मुद्दा बना लिया।

 

 

कपिल सिब्बल की सुप्रीम कोर्ट में टिप्पणी पर गुजरात चुनाव में प्रधानमंत्री के तेवर देख अब सुन्नी वक्फ बोर्ड पलट गया है। वक्फ बोर्ड के पक्षकार हाजी महबूब अंसारी और जफरयाब जिलानी ने कहा है कि वो सिब्बल की मांग का समर्थन करते हैं। जफरयाब जिलानी ने कहा कि जो बात कपिल सिब्बल ने कही है वही बात हमारी भी है। देश का अभी जो माहौल है उस में सुनवाई नहीं होनी चाहिए।

 

 

सिब्बल के बयान से कांग्रेस ने किया किनारा

हालांकि सिब्बल पर छिड़े संग्राम में कांग्रेस साफ कर चुकी है कि वह वकील हैं और वो किसकी पैरवी करते हैं, ये उनका निजी फैसला है। आज कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोलते हुए ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया। कांग्रेस ने कहा कि गुजरात पर जवाब ना देना पड़े इसलिए नरेंद्र मोदी और अमित शाह बंटवारे की राजनीति कर रहे हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement