Salman Khan Helped Doctor Hathi

दि राइजिंग न्‍यूज

कुलगाम।

 

जम्मू-कश्मीर में कुलगाम जिले के खुदवाणी इलाके में आज सेना के सर्च ऑपरेशन के दौरान पत्थरबाजों ने हंगामा कर दिया। हालांकि, सेना ने जब उन्हें हटाने की कोशिश की तो पत्थरबाजों ने सेना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। इस दौरान दोनों के बीच झड़प हुई और इसमें तीन नागरिकों की मौत हो गई। मृतकों में एक नाबालिग लड़की भी शामिल है।

वहीं, इस झड़प में तीन जवान समेत 13 से ज्यादा लोग घायल हो गए। झड़प के दौरान घायलों को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर्स ने तीन नागरिकों की मौत की पुष्टि की। सेना और पत्थरबाजों के बीच ये झड़प आतंकी बुरहान वानी की दूसरी बरसी से पहले बुलाए गए बंद के दौरान हुई। बता दें कि हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर बुरहान वानी की दूसरी बरसी पर जम्मू कश्मीर में अलगाववादियों ने बंद का आह्वान किया है।

पुलवामा-त्राल समेत कई इलाकों में कर्फ्यू

सुरक्षा के मद्देनजर सेना ने पुलवामा और त्राल समेत कई इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया है। बंद के दौरान किसी भी अनहोनी से बचने के लिए रविवार को रवाना होने वाली अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी गई है। जम्मू कश्मीर के डीजीपी डॉ। एसपी वैद ने इस बात की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि रविवार को आतंकी बुरहान वानी की बरसी पर कश्मीर बंद का आह्वान किया गया है, जिसके कारण सुरक्षा के मद्देनजर रविवार को अमरनाथ यात्रा पर रोक लगा दी गई है।

इससे करीब 1000 की संख्या में अमरनाथ यात्रियों को कठुआ में रुकना पड़ा है। वहीं, 15000 हजार से ज्यादा यात्रियों को जम्मू, उधमपुर और रामबाण जिले में रोका गया है।

श्रीनगर नेशनल हाईवे के 300 किलोमीटर के इलाके में रेड अलर्ट

इंटेलिजेंस के सूत्रों के मुताबिक आतंकी बुरहान की बरसी पर आतंकी हमले से बचने के लिए जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर नेशनल हाईवे के 300 किलोमीटर के इलाके में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। इससे पहले जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के अध्यक्ष यासीन मलिक को हिरासत में ले लिया गया, जबकि हुर्रियत कांफ्रेंस के नरमपंथी धड़े के प्रमुख मीरवायज उमर फारुक को उनके निगीन आवास पर नजरबंद कर दिया गया है।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मलिक को मैसूमा में उनके घर से हिरासत में लिया गया। उन्हें मैसूमा थाने में हवालात में रखा गया है। हुर्रियत कांफ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी हैदरपुरा में अपने घर पर अब भी नजरबंदी में हैं। वैसे उन्हें समीप की मस्जिद में जुम्मे की नमाज पढ़ने जाने दिया गया, लेकिन फिर से नजरबंद कर दिया गया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll