Home Top News Jdu Bjp And Trs Supports Nda Candidate Ram Nath Kovind For Presidential Post

लोया केस में SC के फैसले से अमित शाह के खिलाफ साजिश बेनकाब- योगी

POCSO एक्ट में संशोधन पर बोलीं रेणुका चौधरी- देर आए दुरुस्त आए

शत्रुघ्न सिन्हा बोले- त्याग और बलिदान की प्रतिमूर्ति हैं यशवंत सिन्हा

केंद्र सरकार अली बाबा चालीस चोर की सरकार है: शत्रुघ्न सिन्हा

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए AIADMK ने उतारे तीन प्रत्याशी

राष्‍ट्रपति चुनाव: टीआरएस ने किया कोविंद के सम‍र्थन का एलान

Home | Last Updated : Jun 20, 2017 12:26 PM IST

   
jdu bjp and trs supports nda candidate ram nath kovind for presidential post

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्ली।

 

कल बीजेपी ने अपना दलित कार्ड चलाया और रामनाथ कोविंद का राष्ट्रपति पद के लिए नाम घोषित किया। लेकिन कल विपक्ष में बहुत सी चर्चाएं हो रही थीं कि कोविंद को किसका समर्थन मिलेगा किसका नहीं। लेकिन अब रामनाथ का राष्‍ट्रपति बनना लगभग तय हो गया है। अगर रामनाथ राष्ट्रपति बने तो वह देश के 14वें राष्ट्रपति होंगे। आंकड़े बता रहे हैं कि एनडीए ने जरूरी वोट जुटा लिए हैं। जेडीयू और बीजेडी के बाद टीआरएस ने भी एनडीए को समर्थन का देने का एलान कर दिया है, हालांकि विपक्ष अभी बीजेपी को खुला रास्ता देने के पक्ष में नहीं है।

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने रामनाथ कोविंद के नाम का एलान करते हुए कहा, “आशा करते हैं कि दलित समाज से संघर्ष करके गरीब के घर में जन्म लेकर सार्वजनिक जीवन में इतने ऊंचे मुकाम पर पहुंचने वाले रामनाथ जी सर्वसहमत प्रत्याशी होंगे। इसकी हम सब लोग आशा करते हैं।


रामनाथ कोविंद के नाम का एलान करते वक्त दिए गए इस बयान में राष्ट्रपति चुनाव का सारा जोड़तोड़ नजर आता है। दलित समुदाय के कोविंद को बनाने के पीछे मोदी की भविष्य की राजनीति है। कोविंद का चयन कर विपक्षी एकता को चुनौती दी गई है और बिहार में जेडीयू ने एनडीए को समर्थन देने का एलान किया है। सीएम नीतीश के पास 20 हजार 935 वोट हैं। वहीं दलित उम्मीदवार के नाम के एलान के बाद उत्तर प्रदेश में सीएम योगी और मायावती की पार्टी बीएसपी एक स्वर में बात कर रहे हैं।

 

दलित होने के नाते बसपा कोविंद को समर्थन देगी

सीएम योगी ने कहा है कि एक दलित को उम्मीदवार बनाना हमारे लिए गौरव की बात है। वहीं, मायावती ने कहा है, “अगर विपक्ष की तरफ से कोई और दलित चेहरा नहीं आया तो दलित होने के नाते बसपा कोविंद को समर्थन देगी।


वोटों का गणित क्या हैं?

एनडीए के पास अभी पांच लाख 32 हजार वोट हैं। कोविंद को राष्ट्रपति बनाने के लिए एनडीए को 17 हजार 422 वोट और चाहिए।  समर्थन का एलान कर चुकी वाईएसआर कांग्रेस के पास 17 हजार 666 वोट और टीआरएस के पास भी 22 हजार 48 वोट हैं। इसके अलावा उड़ीसा के सीएम नवीन पटनायक ने भी कोविंद को समर्थन दे दिया है। पटनायक के पास 37 हजार 257 वोट हैं।


शिवसेना आज लेगी अन्त्यिम फैसला 

भाजपा ने सोमवार को रामनाथ कोविंद को एनडीए का राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया था। रामनाथ कोविंद का समर्थन करने की बात पर बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने कहा कि वह इस बारे में अपना अंतिम फैसला आज बताएगी।


सोमवार शाम माटुंगा में शिवसेना के 51वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर कोविंद को दलित वोट हासिल करने की मंशा से चुना गया है तो शिवसेना उनका समर्थन नहीं करेगी।


ठाकरे ने कहा, हमने कभी किसी को ढाल बनाकर राजनीति नहीं की है। हमने एम एस स्वामीनाथन का नाम सुझाया था ताकि किसानों को फायदा मिल सके। हम हमेशा किसानों के हित के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा, राष्ट्रपति पद के दलित उम्मीदवार को लेकर राजनीति करने के प्रयास किये जा रहे हैं। अगर ऐसा है तो हम उनका समर्थन करने में दिलचस्पी नहीं रखते। हम आज राजग उम्मीदवार पर अपना अंतिम फैसला सुनाएंगे।


यह भी पढ़ें

बीजेपी का दलित कार्ड, कोविंद होंगे राष्ट्रपति

दलित के बदले दलितविपक्ष की ओर से मीरा कुमार

होटल ताज को मिला ट्रेडमार्क

जब गोरे उर्दू नहीं बोल सकते, तो हम अंग्रेजी क्‍यों बोलें

फ्लाइट में महिला से की अश्‍लीलता, धरा गया

केरल फंसा वायरल फीवर की चपेट में

जिंदा हो गया मृत बच्‍चा!

बदसलूकी करने वाले सांसद के उड़ने पर लगा बैन

जादू के नाम पर छूता था महिलाओं का प्राइवेट पार्ट्स, धरा गया


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...