Rani Mukerji to Hoist the National flag at Melbourne Film Festival

दि राइजिंग न्‍यूज  

अहमदाबाद।

 

सोमवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय अमित शाह की ओर से एक न्यूज पोर्टल के खिलाफ आपराधिक मानहानि का मुकदमा दायर किया गया है। इस मुकदमें में उनका प्रतिनिधत्व अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता करेंगे। न्यूज पोर्टल की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उनकी कंपनी के कारोबार में 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से भारी वृद्धि दर्ज की गई।

 

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मेहता ने जय का पक्ष अदालत में रखने के लिये उपस्थित होने के संबंध में विधि मंत्री रविशंकार प्रसाद से अनुमति मांगी और उन्हें इसकी मंजूरी मिल गई। गोयल ने जोर दिया कि इस रिपोर्ट का मकसद अभद्र उल्लेख के जरिये बीजेपी और सरकार को बदनाम करना है।

 

जय शाह ने दर्ज कराया मुकदमा

जय अमित शाह ने इस मामले में रिपोर्ट लिखने वाले, संपादक और न्यूज पोर्टल के मालिक समेत सात लोगों के खिलाफ गुजरात में अहमदाबाद की मेट्रोपॉलिटन कोर्ट में 100 करोड़ रुपए का आपराधिक मानहानि का केस दर्ज करा दिया है।

 

कांग्रेस ने इस बारे में तीखा प्रहार करते हुए दावा किया है कि सरकार को इसकी पूरी जानकारी है क्योंकि खबर आने से पहले ही एएसजी को इसकी मंजूरी दी गई, गोयल ने कहा कि इस बारे में जय को एक प्रश्नावली भेजी गई थी।

 

मामले में बीजेपी की सफाई

गोयल ने संवाददाताओं से कहा, मेरा विश्वास है कि जय को फंसाया गया है और उन्हें न्याय मिलना चाहिए। इसमें कोई गलत नहीं है कि इस मामले में सर्वश्रेष्ठ वकील उपस्थित हों। मंजूरी मिलने के बाद एएसजी दो निजी पक्षों के मामले में उपस्थित हो सकते हैं।

 

वेबसाइट “द वायर” ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि बीजेपी के सत्ता में आने के बाद घाटे में चल रही जय शाह की कंपनी के टर्नओवर में एक साल में 16,000 गुना तक इजाफा हुआ।

 

 

बता दें कि जय शाह को लकेर “द वायर” की रिपोर्ट छपने और कांग्रेस के हमले के बाद बीजेपी नेता और केंद्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने वेबसाइट द वायर की रिपोर्ट को मनगढ़त और अमित शाह की छवि को नुकसान पहुंचाने वाला करार देते हुए वेबसाइट, वेबसाइट के संपादक और रिपोर्टर के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज करने का एलान किया था।

 

जय शाह पर लगाए गए सभी आरोपों को खारिज करते हुए पीयूष गोयल ने कहा था, “ये झूठ और पूरी तरह से आधारहीन और दुर्भावनपूर्ण भाव से किए गए अपमानजनक आरोप हैं। हम इन आरोपों का पूरी तरह से खंडन करते हैं, नकारते हैं।”

 

 

जय शाह ने भी अपनी सफाई में कहा था कि वेबसाइट ने अपनी स्टोरी में झूठ दिखाने की कोशिश की है। उनके प्रतिष्ठा को नीचा दिखाने की कोशिश की है। लोगों के मन में ऐसी छवि बनाने की कोशिश की गई है कि उनके व्यवसाय में सफलता उनके पिता की राजनीतिक हैसियत से मिली है।

उन्होंने कहा, मेरा व्यवसाय पूरी तरह से कानून का पालन करता है। जो मेरे टैक्स रिकार्ड और बैंक ट्रांजेक्शन से पता चलता है। किसी कॉपरेटिव बैंक से लोन नियम कानून के हिसाब से लिए गए।”

 

 

द वायर की रिपोर्ट के आधार पर कांग्रेस ने अमित शाह को निशाने पर लिया। कांग्रेस नेता कबिल सिब्बल ने कहा कि ऐसा लगता है कि 2014 में सरकार बदलने के साथ अमित शाह के बेटे की किस्मत भी बदल गई है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll