Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

1993 मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और इंटरनेशनल डॉन दाऊद इब्राहिम की ब्रिटेन में संपत्ति जब्त करने की खबर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस संपत्ति की कीमत 6.7 बिलियन डॉलर यानी 42 हजार करोड़ बताई जा रही है। बता दें कि पिछले महीने यूके ने फाइनेंशियल सेंक्शंस (आर्थिक प्रतिबंधों) से जुड़ी असेट फ्रीज लिस्ट जारी की थी। इसमें दाऊद का नाम था। लिस्ट में दाऊद की नागरिकता भारतीय दर्ज थी। इसके अलावा, उसके पाकिस्तान स्थित तीन पतों का जिक्र किया गया था। दाऊद के 21 उपनाम भी बताए गए थे, जिनका वो इस्तेमाल करता रहा है।

कौन सी संपत्ति जब्त की हैं...

 

दाऊद इब्राहिम के पास वॉरविकशायर में एक होटल और कई घर थे, जिनकी कीमत हजारों करोड़ है।

 

लिस्ट के मुताबिक, PAK में दाऊद के ठिकाने

 

लिस्ट के मुताबिक पहला पता हाउस नंबर 37, 30th स्ट्रीट, डिफेंस हाउसिंग अथॉरिटी, कराची पाकिस्तान है। दूसरा पता नूराबाद, कराची, पाकिस्तान (पटियाला बंगला) है। तीसरा पता व्हाइट हाउस, सउदी मस्जिद के पास, कराची, पाकिस्तान दिया गया है।

हालांकि, पिछले साल इसी लिस्ट में दाऊद का चौथा पता भी दिया गया था, जो हाउस नंबर 29, मार्गल्ला रोड, F6/2 स्ट्रीट नंबर 22, कराची दर्ज था। इसे इस साल रिकॉर्ड में दर्ज नहीं किया गया है।

 

दाऊद की बर्थ प्लेस का भी जिक्र

 

लिस्ट में दाऊद का जन्मस्थान खेर, रत्नागिरी, महाराष्ट्र दर्ज है और उसकी नेशनलिटी भारतीय बताई गई है। इसमें उसके इंडियन पासपोर्ट का भी जिक्र है, जिसे बाद में भारत सरकार ने रद्द कर दिया था। इसके बाद दाऊद के कई इंडियन और पाकिस्तानी पासपोर्ट का जिक्र किया गया है, जिनका गलत इस्तेमाल किया गया। दाऊद के पिता का नाम शेख इब्राहिम अली कास्कर, माता का नाम अमीना बी और पत्नी का नाम मेहजबीन शेख दर्ज है। इस लिस्ट में सबसे पहले दाऊद का नाम 7 नवंबर 2003 को आया था।

दाऊद के ये नाम बताए गए

 

लिस्ट में दाऊद के 21 नाम बताए गए हैं। इनमें शेख, इस्माइल, अब्दुल अजीज, अब्दुल हमीद, अब्दुल रहमान, मोहम्मद भाई, अनीस इब्राहिम, इकबाल, दिलीप, अजीज, फारूखी, हसन, दाऊद, मेमन, कास्कर, साबरी, साहेब, हाजी, सेठ और बड़ा भाई। लिस्ट के मुताबिक इन नामों का इस्तेमाल दाऊद करता रहा है।

 

और किनके नाम हैं लिस्ट में?

 

दाऊद के अलावा यूके ट्रेजरी डिपार्टमेंट की लिस्ट में लिबरेशन टाइगर ऑफ तमिल इलम (LITTE), खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स और हिज्बुल मुजाहिदीन का नाम है। अलकायदा और ISIS से जुड़े कई संगठनों के नाम भी इस लिस्ट में हैं।

लिस्ट में नाम आने का मतलब क्या है?

 

आर्थिक प्रतिबंधों की इस लिस्ट में नाम आने का मतलब ये है कि ब्रिटेन प्रतिबंधित शख्स, देश या संस्था को फंड ट्रांसफर किए जाने पर रोक लगा सकता है उसके असेट्स सीज किए जा सकते हैं। कुछ प्रतिबंधों में फाइनेंशियल सर्विस प्रोवाइड या परफॉर्म करने पर भी रोक लगाई जा सकती है। यूके ट्रेजरी के मुताबिक फाइनेंशियल प्रतिबंधों का उल्लंघन करना अपराध है।

1993 मुंबई ब्लास्ट्स का आरोपी है दाऊद

 

बता दें कि दाऊद 1993 में मुंबई में हुए सीरियल ब्लास्ट्स मामले में आरोपी है। धमाकों के बाद वह भारत से फरार हो गया था। इन ब्लास्ट में 260 लोगों की मौत हुई थी और 700 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

 

दाऊद को लेकर भारत कई बार पाकिस्तान को डोजियर सौंप चुका है। भारत सरकार ने दाऊद के पाकिस्तान में पतों का भी डोजियर में जिक्र किया था, लेकिन पाकिस्तान हमेशा यही दावा करता रहा है कि दाऊद इब्राहिम उसके यहां नहीं है।

 

दाऊद का नाम इंटरपोल की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में शामिल है। उस पर धोखाधड़ी, आपराधिक साजिश और एक आपराधिक गिरोह ऑपरेट करने का आरोप है। अमेरिका ने 2003 में इसे ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया था।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll