Irrfan Khan Writes an Emotional Letter About His Health

दि राइजिंग न्यूज़

अहमदाबाद।

 

56 साल के लंबे अंतराल के बाद, अब जाकर सरदार सरोवर नर्मदा डैम प्रोजेक्ट पूरा हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केवडिया में बने इस 138.68 मीटर ऊंचे डैम का रविवार को इनॉगरेशन करेंगे। गौरतलब है कि इस दिन मोदी का जन्मदिवस भी है। मोदी डैम के इनॉगरेशन के बाद डभोई-वडोदरा में रैली भी करेंगे। इनॉगरेशन के दौरान डैम के गेट 10-15 मिनट के लिए खोले जा सकते हैं। ऐसा होने पर इससे 30 हजार क्यूसेक पानी बह जाएगा। यह बांध नर्मदा पर बनने वाले 30 बांधों में से एक है। बांध पूरा भर जाने पर गुजरात की पीने के पानी और सिंचाई की जरूरतें 6 साल तक पूरी हो सकेंगी। नर्मदा पर यह डैम बनाने की पहल 1945 में सरदार पटेल ने की थी।

1961 में नेहरू ने किया था शिलान्यास...

 

मुंबई के इंजीनियर जमदेशजी एम वाच्छा ने सरदार सरोवर डैम का प्लान बनाया। पर इसकी शुरुआत में ही 15 साल लग गए। 15 अप्रैल 1961 को जवाहर लाल नेहरू ने बांध का शिलान्यास किया। 56 साल में बने इस बांध पर करीब 65,000 करोड़ रुपए खर्च हुए।

मध्य प्रदेश को मिलेगी 57% बिजली, राजस्थान को सिर्फ पानी

 

डैम का सबसे ज्यादा फायदा गुजरात को मिलेगा। इससे यहां के 15 जिलों के 3137 गांव की 18.45 लाख हेक्टेयर जमीन की सिंचाई की जा सकेगी। बिजली का सबसे अधिक 57% हिस्सा मध्य प्रदेश को मिलेगा। महाराष्ट्र को 27% और गुजरात को 16% बिजली मिलेगी। राजस्थान को सिर्फ पानी मिलेगा।

 

बांध बनाने में 86.20 लाख क्यूबिक मीटर कंक्रीट लगा है। इससे पृथ्वी से चंद्रमा तक सड़क बनाई जा सकती थी।

डैम की खासियत

 

  • कांक्रीट के इस्तेमाल के लिहाज से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा बांध, अमेरिका का ग्रांट कुली नंबर वन है।

  • 1000 वॉट के 620 एलईडी बल्बों से सजाया गया डैम

  • बांध पर गुलाबी, सफेद और लाल रंग के 620 एलईडी बल्ब लगाए गए हैं। इनमें से 120 बल्ब बांध के 30 गेट पर लगे हैं। इनसे पैदा होने वाली रोशनी से ओवरफ्लो का आभास होता है।

  • डैम का मौजूदा वॉटर लेवल 128.44 मी. है। इससे 6000 मेगावॉट बिजली पैदा होगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll