Watch Making of Dilbar Song From Satyameva Jayate

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

डोकलाम विवाद पर चीन और भारत के बीच पिछले दो महीने से चल रही तनातनी को मद्देनज़र रखते हुए भारत ने सिक्किम, अरुणाचल से लगी चीन सीमा पर सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है। शुक्रवार को वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में जानकारी दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अधिकारी ने कहा कि सीमा पर तैनात सैनिकों को सावधान रहने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि डोकलाम पर चीन के आक्रामक रूख को देखते हुए स्थिति के गहन विश्लेषण के बाद यह फैसला लिया गया है। 1400 किलोमीटर लंबी चीन-भारत सीमा पर सिक्किम से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक तैनात सैनिकों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया गया है।

अधिकारी ने यह भी कहा कि सरकार को सीमा से संवेदनशील जानकारियां मिली हैं। इसके बाद जवानों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया गया है।

 

भारत-चीन सीमा की ईस्टर्न थियेटर की सुरक्षा के लिए अरुणाचल और असम में तैनात 3 और 4 कॉर्प्स के जवानों के साथ सेना की सुकना स्थित 33 कॉर्प्स को भी चीन सीमा पर भेजा गया है। हालांकि अधिकारी ने जवानों की संख्या बताने से इंकार कर दिया। अधिकारी का कहना था कि वे ऑपरेशनल जानकारियां नहीं साझा कर सकते।

45 हजार जवानों की ट्रेनिंग

 

रक्षा विशेषज्ञों के मुताबिक अनुमानित रूप से 45 हजार जवानों ने वेदर एक्लीमेटाइजेशन प्रोसेस (इसके तहत जवानों को अलग-अलग तापमान में ट्रेनिंग कराया जाता है) को पूरा किया है। इसका मतलब जवानों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने के लिए होता है। लेकिन कोई जरूरी नहीं है सभी जवानों को सीमा पर तैनात ही किया जाए।

9 हजार फीट की ऊंचाई पर जवानों की ट्रेनिंग

 

सैनिकों को 9 हजार फीट ऊंचाई पर तैनात किया गया और नौ दिनों तक एक्लीमेटाइजेशन की प्रक्रिया चली। हालांकि अधिकारियों ने कहा कि भारत-चीन-भूटान के त्रिकोण पर डोकलाम में तैनात सैनिकों की संख्या में कोई इजाफा नहीं किया गया है।

डोकलाम में तैनात हैं भारत के 350 जवान

 

भारत के 350 जवान डोकलाम में अपनी पोजिशन संभाले हुए हैं। गौरतलब है कि 16 जून को चीन की ओर से कराए जा रहे सड़क निर्माण के कार्य को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया था। और तब से लगातार आठ हफ्ते से भारतीय सैनिक अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

डोकलाम पर आग उगल रहा है ड्रैगन

 

भूटान और चीन डोकलाम पर दावा करते रहे हैं और अब दोनों के बीच इस मुद्दे पर बात चल रही है। चीन इस मुद्दे पर पिछले कुछ हफ्ते से भारत के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहा है। चीन की मांग है कि भारत डोकलाम से तुरंत अपने सैनिक वापस बुलाए। चीनी मीडिया डोकलाम मुद्दे भारत की आलोचना करते हुए लगातार लेख छाप रही है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll