Home Top News India Can Talk To Pakistan On Terrorism

इलाहाबादः BJP विधायक संजय गुप्ता की गाड़ी सीज करने वाले दरोगा सस्पेंड

PNB घोटाला: मेहुल चोकसी के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की चार्जशीट

MP चुनाव: कांग्रेस को-ऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन नियुक्त हुए दिग्विजय सिंह

जोधपुरः 3 मंजिला इमारत ढही, मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका

लालू प्रसाद आज शाम होंगे मुंबई रवाना, हृदय रोग का करवाएंगे इलाज

आतंकवाद पर हो सकती है भारत-पाक के बीच बातचीत!

Home | Last Updated : Jan 12, 2018 06:51 AM IST

India Can Talk To Pakistan On Terrorism


दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्ली।

 

पिछले दिनों से भारत-पाकिस्तान के रिश्ते के बीच खटास चल रही है, लेकिन अब इसके सुधरने के संकेत मिल रहे हैं। विदेश मंत्रालय ने माना है कि दिसंबर के आखिरी हफ्ते में थाईलैंड में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर खान जांजुआ की मुलाकात हुई। हालांकि भारत ने साफ किया कि बातचीत सिर्फ आतंकवाद के मुद्दे पर हुई।

 

 

26 दिसंबर 2017 को थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नासिर खान जांजुआ के बीच बैठक हुई। तीन हफ्ते बाद अब विदेश मंत्रालय ने मुलाकात की खबर पर मुहर लगा दी है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, जो हमारा मुद्दा है वो आतंकवाद का है। बातचीत में इस बात पर चर्चा हुई कि कैसे आतंकवाद से इस क्षेत्र को आजाद कराया जाए। ये कैसे सुनिश्चित हो कि इस क्षेत्र में आतंकवाद का असर न डाल पाए। बातचीत में हमने सीमा पार से आतंकवाद का भी मुद्दा उठाया।

 

 

भारत और पाकिस्तान के एनएसए के बीच हुई इस बैठक से ये भी साफ हुआ कि ये कोई अंतिम मुलाकात नहीं थी, इस तरह की बातचीत आगे भी होती रहेगी। भारत ने ये साफ कर दिया कि आतंकवाद को लेकर उसके एजेंडे में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने कहा, हम कह चुके हैं कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं हो सकती। लेकिन आतंकवाद पर बातचीत निश्चित तौर पर होती रहेगी।

 

 

बैठक में नहीं उठा जाधव का मुद्दा

गौरतलब है कि डोभाल और जांजुआ के बीच मुलाकात से ठीक एक दिन पहले यानी 25 दिसंबर को पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी ने मुलाकात की थी। इस मुलाकात में जाधव की पत्नी और मां का अपमान हुआ जिसका मुद्दा भारत ने पुरजोर तरीके से उठाया था। हालांकि विदेश मंत्रालय ने इस बात से इनकार किया कि NSA की बैठक में जाधव का मुद्दा उठा था।

 

 

रवीश कुमार ने कहा, ऐसी बैठकों में से कुछ की तारीख पहले से तय होती है। मेरा मानना है कि तारीख पहले से निर्धारित थी। इस बैठक का उन बातों से कोई संबंध नहीं है जो उसी दौरान हो रहे थे और एक बार फिर मैं साफ करना चाहूंगा कि बातचीत का मुद्दा आतंकवाद और सीमा पार से आतंकवाद था।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...