Actress katrina Kaif and Mouni Roy Visited Durga Puja Pandal

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

उत्तर प्रदेश, दिल्ली और हिमाचल प्रदेश समेत देश के कई राज्यों में मूसलाधार बारिश ने कहर मचाया हुआ है। पिछले 48 घंटे में भारी बारिश के चलते अलग-अलग इलाकों में कई लोगों की मौत हो गई है। इनमें सबसे ज्यादा मौतें उत्तर प्रदेश में हुई हैं। उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में भारी बारिश के चलते 33 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोग घायल भी हुए हैं। इसके साथ ही दो दिनों में मरने वालों का आंकड़ा 58 पहुंच गया है। वहीं, राज्य के अलग-अलग हिस्सों में 100 से ज्यादा मकान भी जमींदोज हो गए हैं।

 

हिमाचल में भूस्खलन

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश का हाल भी कुछ ऐसा ही है। वहां भी पिछले 48 घंटों से जारी मूसलाधार बारिश की वजह से कई इलाकों में भूस्खलन हो गया है, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं।  ऐहतियातन राज्य में 100 से अधिक सड़क मार्गों को बंद कर दिया गया है। शुक्रवार को भारी बारिश की वजह से आई बाढ़ में गिरि नदी में 8 लोग फंस गए। एनडीआरएफ की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद लोगों को नदी से सुरक्षित बाहर निकाला। उत्तराखंड में भी शुक्रवार को हुई भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। यहां भी कई नदियां उफान पर हैं। भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री हाईवे पिछले सात दिनों से बंद है।

उत्तर प्रदेश में कई मौतें

राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मुताबिक, आंधी-तूफान के साथ भारी बारिश में आगरा में 6, मुजफ्फरनगर में 3, कासगंज में 3, मेरठ में 4, मैनपुरी में 4, बरेली में 2, कानपुर देहात, मथुरा, गाजियाबाद, हापुड़, झांसी, जालौन, रायबरेली और जौनपुर में एक-एक मौतें हुई हैं।   

 

यूपी के 11 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक, पूरे उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में 15 फीसदी बारिश हो चुकी है, जबकि 21 जुलाई तक सूबे में 50 फीसदी ही बारिश हुई थी। खतरे को देखते हुए मौसम विभाग ने 11 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है, जिसमें फैजाबाद, बस्ती, गोरखपुर, संतकबीरनगर, इलाहाबाद, संतकबीरदास नगर, आगरा, मथुरा, बुलंदशहर, रायबरेली और फर्रुखाबाद शामिल हैं।

दिल्ली में बाढ़ की चेतावनी

पहाड़ों में हो रही बारिश का असर दिल्ली में भी पड़ा है। हथनी कुंड बैराज से लगातार छोड़े जा रहे पानी से दिल्ली में यमुना नदी का जल चेतावनी स्तर को पार कर गया। इससे सभी संबधित एजेंसियां अलर्ट मोड में आ गई हैं। वर्तमान में यमुना का जल स्तर 204.92 मीटर है जो कि खतरे के निशान से 0.09 मीटर ऊपर है।

 

शुक्रवार को हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से 1,15,000 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। जिसके बाद दिल्ली सरकार ने यमुना के किनारे वाले इलाकों में बसे लोगों को अलर्ट जारी किया है। शुक्रवार को पूर्वी दिल्ली जिला प्रशासन ने एक बयान जारी कर कहा कि दिल्ली ओल्ड रेलवे ब्रिज पर यमुना का जलस्तर 27 जुलाई को शाम सात बजे 204.10 मीटर पहुंच गया था।और इसमें लगातार वृद्धि हो रही है।

हरियाणा की तरफ से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। शनिवार सुबह 6 बजे 1,65,000 क्यूसेक से ज्यादा पानी छोड़ा गया। इसका मतलब ये है कि जल स्तर में और वृद्धि होगी। हालांकि विभाग ने कहा कि इससे ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ेगा, लेकिन यमुना के किनारे स्थित गांधी मंडू, न्यू उस्मानपुर, यमुना पुस्ता और सोनिया विहार जैसे निचले इलाकों से लोगों को खाली करवा लिया गया है।

 

इन राज्यों में भी बारिश का अलर्ट जारी

दिल्ली-एनसीआर समेत कई राज्यों को बारिश से इतनी जल्दी निजात नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, झारखंड, पश्चिम बंगाल और असम में अगले 4-5 दिन तक भारी बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने असम, मेघालय, मणिपुर, त्रिपुरा, नागालैंड और मिजोरम जैसे पूर्वोत्तर राज्यों में बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement