Happy Birthday Haryanvi Sensation Sapna Chaudhary

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

मंगलवार को पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड में भाजपा की ओर से एनडीपी (नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी) के समर्थन में राज्यपाल पीबी आचार्य को अपने 12 विधायकों के हस्ताक्षर वाला समर्थन पत्र सौंपने के साथ ही यहां एनडीपीपी-भाजपा गठजोड़ की सरकार के सत्ता में आने का रास्ता साफ हो गया है। एनडीपीपी सूत्रों ने बताया कि संवैधानिक प्रक्रिया पूरी होने के बाद नेफ्यू रियो सरकार इसी सप्ताह शपथ लेगी।

इस बीच, उपमुख्यमंत्री का पद भाजपा को देने पर सहमति बन गई है। भाजपा विधायक दल के नेता वाई पैटन उपमुख्यमंत्री होंगे। इससे पहले पैटन को आम राय से विधायक दल का नेता चुन लिया गया। इस बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक जेपी नड्डा, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह व पूर्वोत्तर के महासचिव (सांगठनिक) अजय जामवाल के अलावा असम के भाजपा नेता हिंमत विश्व शर्मा भी मौजूद थे।

भाजपा के चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष एम चुबा ने बताया कि भाजपा को गृह मंत्रालय के साथ ही मंत्रिमंडल में छह पद मिलेंगे। राज्य की लोकसभा व राज्यसभा सीटें भी एनडीपीपी व भाजपा के बीच बंटेगी। इसके अलावा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों के अध्यक्षों में से आधे पद एनडीपीपी के खाते में जाएंगी। बाकी आधे में से 40 फीसदी भाजपा को मिलेंगे और 10 फीसदी दूसरी पार्टियों को।

गौरतलब है कि भाजपा ने सोमवार को ही अपने पुराने सहयोगी नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) से 15 साल पुरानी दोस्ती तोड़ने का औपचारिक एलान किया था। एक सवाल के जवाब में हिंमत ने बताया कि एनपीएफ से नाता तोड़ने का मणिपुर सरकार की स्थिरता पर कोई असर नहीं पडे़गा। वहां पार्टी के पास बहुमत है। ज्ञात हो कि नागालैंड में साथ नहीं देने की सूरत में एनपीएफ ने मणिपुर में भाजपा की अगुवाई वाली सरकार से समर्थन वापस लेने की धमकी दी थी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement