Box Office Collection of Race 3

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

 

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों चार दिन के दौरे पर भारत में हैं। इस दौरान उन्होंने भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी से मिलकर विभिन्न क्षेत्रों में 14 अहम समझौते किए। ये समझौते रेलवे, शहरी विकास, रक्षी, अंतरिक्ष आदि क्षेत्रों में किए गए।

पीएम मोदी ने क्या कहा

  • इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, हम सिर्फ दो सशक्त स्वतंत्र देशों और दो विविधतापूर्ण लोकतंत्रों के ही नेता नहीं हैं, हम दो समृद्ध और समर्थ विरासतों के उत्तराधिकारी हैं।

  • उन्होंने कहा, हमारी (भारत-फ्रांस) रणनीतिक भागीदारी भले ही 20 साल पुरानी हो, हमाले देशों और हमारी सभ्यताओं की आध्यात्मिक साझेदारी सदियों लंबी है।

  • साझा प्रेस कॉन्फ्रेस के दौरान ये भी कहा कि जमीन से आसमान तक कोई ऐसा विषय नहीं है जिसमें भारत और फ्रांस साथ मिलकर काम ना कर रहे हों।

  • पीएम मोदी ने कहा कि रक्षा, सुरक्षा, अंतरिक्ष और उच्च तकनीक में भारत और फ्रांस के द्विपक्षीय सहयोग का इतिहास बहुत लंबा है। सरकार किसी की भी हो, हमारे संबंधों का ग्राफ सिर्फ और सिर्फ ऊंचा ही जाता है।

  • इसके आगे पीएम मोदी ने बताया, आज हमारी सेनाओं के बीच पारस्परिक लॉजिस्टिक सपोर्ट के समझौते हुआ है। इसे मैं हमारे घनिष्ठ रक्षा सहयोग के इतिहास में एक स्वर्णिम कदम मानता हूं।

 

पीपुल-टू पीपुल कनेक्शन

पीएम मोदी ने कहा, “हम चाहते हैं कि हमारे युवा एक दूसरे के देश को जानें, एक दूसरे के देश को देखें, समझें, काम करें, ताकि हमारे संबंधों के लिए हजारों उच्चायुक्त तैयार हों। इसलिए, आज हमने दो महत्वपूर्ण समझौते किए हैं।”

 

इनमें एक समझौता एक दूसरे की शिक्षा योग्यताओं को मान्यता देने का है और दूसरा माइग्रेशन और मोबिलिटी साझेदारी को गति देना है। ये दोनों समझौते हमारे देशवासियों के, हमारे युवाओं के बीच करीबी संबंधों का खाका तैयार करेंगे।

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों चार दिन के दौरे पर भारत पहुंच गए हैं। मैक्रों शुक्रवार देर रात दिल्ली पहुंचे, जहां एयरपोर्ट जाकर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद उनका स्वागत किया। पीएम मोदी ने गले लगाकर मैक्रों का स्वागत किया।

 

इससे पहले फ्रेंच राष्ट्रपति दिल्ली पहुंचने के बाद राजघाट पहुंचे और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड भी साथ रहीं।

देर रात दिल्ली पहुंचने के बाद शनिवार सुबह इमैनुएल मैक्रों राष्ट्रपति भवन पहुंचे। जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस दौरान राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उनकी पत्नी सविता कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद रहे।

 

पत्नी के साथ पहुंचे भारत

मैक्रों के साथ उनकी पत्नी ब्रिगित मैरी क्लाउड और उनके मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री भी भारत पहुंचे हैं। इमैनुएल मैक्रों की इस यात्रा के साथ ही दोनों देशों की दोस्ती का एक नया दौर शुरू होने जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति मैक्रों के बीच आज प्रतिनिधि स्तर की बातचीत में आतंकवाद, रक्षा और हिंद महासागर में सहयोग बढ़ाने के साथ-साथ कई अहम मुद्दों पर समझौते हो सकते हैं।

 

वहीं, फ्रांस के सहयोग से बन रहे जैतापुर (महाराष्ट्र) परमाणु बिजली संयंत्र को लेकर भी समझौते पर हस्ताक्षर की उम्मीद है। फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों 12 तारीख को वाराणसी जाएंगे, जहां वो गंगा आरती में शरीक होंगे। प्रधानमंत्री भी राष्ट्रपति के साथ काशी में मौजूद रहेंगे। इसके अलावा वो प्रधानमंत्री के साथ मिर्जापुर में सौर संयंत्र का उद्घाटन करेंगे। मैक्रों अपनी पत्नी के साथ ताज का दीदार करने भी जाएंगे।

बच्चों के साथ चर्चा

पीएम मोदी के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के बाद मैक्रों विद्यार्थियों के साथ एक खुली चर्चा में शामिल होंगे। इसमें विभिन्न स्तर के करीब 300 छात्रों के भाग लेने की उम्मीद है। राष्ट्रपति मैक्रों ज्ञान सम्मेलन में भी भाग लेंगे। इसमें दोनों पक्षों के 200 से अधिक शिक्षाविद शामिल होंगे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll