Home Top News Firecrackers Banned In Delhi NCR This Diwali

राहुल गांधी के इंटरव्यू पर बीजेपी ने चुनाव आयोग से की शिकायत

राजस्थान: भारत-ब्रिटेन की सेना ने बीकानेर में किया संयुक्त युद्धाभ्यास

PM मोदी कल मुंबई में नेवी की पनडुब्बी INS कावेरी को देश को समर्पित करेंगे

पंजाब: STF ने लुधियाना से 3 ड्रग तस्करों को किया गिरफ्तार

पटना: मगध महिला कॉलेज में जींस, मोबाइल और पटियाला ड्रेस पर बैन

दिल्‍ली-एनसीआर में पटाखे बैन, मनेगी “साइलेंट” दीपावली

Home | 09-Oct-2017 12:10:32 | Posted by - Admin
  • सुप्रीम कोर्ट ने पटाखा बिक्री पर एक नवंबर तक लगाई रोक
   
Firecrackers Banned in Delhi NCR this Diwali

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

देश का सबसे बड़ा त्‍योहार दीपावली आने वाला है जिसमें घर को तरह-तरह से सजाकर और पटाखे छुड़ाकर लोग इसे मनाते हैं। लेकिन अगर आप दिल्ली-एनसीआर में रहते हैं तो आपकी ये दिवाली काफी शांत बीतेगी। सुप्रीम कोर्ट ने नई दिल्ली-एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक बरकरार रखी है। अब दीवाली से पहले यहां पटाखों की बिक्री नहीं होगी। बता दें कि इस बार दिवाली 19 अक्टूबर को मनाई जाएगी।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पटाखों की बिक्री एक नवंबर, 2017 से दोबारा शुरू हो सकेगी। इस फैसले से सुप्रीम कोर्ट देखना चाहता है कि पटाखों के कारण प्रदूषण पर कितना असर पड़ता है।

 

 

हालांकि कोर्ट ने सिर्फ यहां पटाखे की बिक्री पर रोक लगाई है जलाने या छुड़ाने पर नहीं। इसीलिए यहां कोई पटाखे बेच नहीं सकता, लेकिन जला सकता है।

गौरतलब हो कि पिछले साल भी कुछ बच्चों ने सुप्रीम कोर्ट में पटाखा बैन को लेकर अर्जी डाली थी। सुप्रीम कोर्ट में तीन बच्चों की ओर से दाखिल एक याचिका में दशहरे और दीवाली पर पटाखे जलाने पर पाबंदी लगाने की मांग की गई थी।

 

 

अपनी तरह की यह अनूठी याचिका दाखिल करने वाले इन बच्चों की उम्र छह से 14 महीने के बीच थी। बता दें कि ये पहला मामला है जब ऐसा हुआ है कि बच्चे पटाखा बैन करने के लिए कोर्ट के दरवाजे पर जा पहुंचे।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news