Golmal Starcast Will Be in Cameo in Ranveer Singh Simba

दि राइजिंग न्‍यूज

सहारनपुर।

 

बुधवार को सहारनपुर में भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष कमल वालिया के भाई सचिन की संदिग्ध हालत में हुई मौत मामले में परिजनों ने केस दर्ज कराया है। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ हत्या और साजिश रचने का केस दर्ज किया है। मृतक सचिन के परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। पूरे इलाके में हालात तनावपूर्ण हैं।

प्राप्‍त जानकारी के मुताबिक, बुधवार को महाराणा प्रताप जयंती के दौरान सचिन वालिया की गोली लगने से संदिग्ध हालत में मौत हो गई। इसके बाद परिजनों ने शेर सिंह राणा, नगेन्द्र राणा, कान्हा राणा और उपदेश राणा के खिलाफ कोतवाली देहात में नामजद शिकायत दर्ज कराई है। मृतक के परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया है। भारी पुलिस बल तैनात है।

इंटरनेट सेवाएं बंद

आरोप है कि रामनगर के पास महाराणा प्रताप भवन तक शोभायात्रा निकाली जा रही थी। इसी दौरान कुछ अज्ञात लोगों ने सचिन वालिया की गोली मारकर हत्या कर दी। एडीजी ने बताया कि यह पूरा मामला संदिग्ध है। इसकी जांच की जा रही है। जिला प्रशासन ने तनाव की स्थिति को देखते हुए सहारनपुर में इंटरनेट सेवाएं अगले आदेश तक बंद कर दी हैं।

ये है पूरा मामला

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, क्षत्रिय समाज ने महाराणा प्रताप जयंती के अवसर पर सहारनपुर के रामनगर में शोभायात्रा निकालने की अनुमति मांगी थी। पहले इस पर प्रशासन का रवैया टालने वाला रहा, लेकिन बाद में मंगलवार को जिला प्रशासन ने 150 लोगों के साथ शोभायात्रा निकालने की अनुमति दे दी। प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम का दावा किया था।

बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह से शोभा यात्रा की तैयारी हो रही थी। शोभा यात्रा रामनगर के पास महाराणा प्रताप भवन तक पहुंची। उसी वक्त भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष कमल वालिया का भाई सचिन भवन के सामने से गुजर रहा था। अचानक किसी ने उस पर गोली चला दी। उसे आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इलाके में तनाव

इस घटना से पूरे इलाके में एक बार फिर जातीय तनाव पैदा हो गया। जिला अस्पताल में भीम आर्मी के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जमा हो गए। वहां जमकर हंगामा हुआ। सहारनपुर के जिलाधिकारी पी.के. पांडे और एसएसपी बबलू कुमार जब जिला अस्पताल पहुंचे तो कमल वालिया की उनके साथ नोक-झोंक भी हुई। इसके बाद दोनों अधिकारी वहां से चले गए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement