Updates on Priyanka Chopra and Nick Jones Roka Ceremony

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

फेक न्यूज़ और आपत्तिजनक खबरों के सामने आने बाद फेसबुक के मॉडरेटर दक्षिणपंथी विचारों और कम उम्र वालों के अकाउंट की सुरक्षा करते हैं। अब फेसबुक का कहना है कि वह 7,500 से ज्यादा कंटेंट समीक्षक तैयार कर रहा है, जो नफरत फैलानेवाले विचारों, आतंकवाद और बच्चों के यौन शोषण से जुड़ी कंटेंट की प्लेटफार्म पर समीक्षा करेंगे।

 

कंटेंट समीक्षक कर्मचारियों में फुल टाइम और कॉन्ट्रैक्ट आधारित कर्मचारी शामिल हैं। इसमें फेसबुक के पार्टनर कंपनियों के कर्मचारी भी होंगे, जो दुनिया के सभी टाइम जोन में 50 भाषाओं में काम करेंगे। 

फेसबुक में ऑपरेशन के वाइस प्रेसिडेंट एलेन सिल्वर ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, “इतने बड़े पैमाने पर कंटेंट की समीक्षा पहले कभी नहीं की गई थी। आखिरकार इससे पहले ऐसा प्लेटफार्म भी तो नहीं था, जहां अलग-अलग भाषाओं के अलग-अलग देशों के ढेर सारे लोग आपस में बात करते हैं। हम इस चुनौती की विशालता और जिम्मेदारी को समझते हैं।”

 

सिल्वर ने आगे कहा, भाषा की दक्षता महत्वपूर्ण है और यह हमें चौबीस घंटे कंटेंट की समीक्षा करने में सक्षम बनाती है। अगर कोई हमें किसी ऐसी भाषा की कंटेंट की जानकारी देता है, जिसकी हम चौबीस घंटे निगरानी नहीं कर रहे हैं तो उसके लिए हम अनुवाद कंपनियों और अन्य विशेषज्ञों की सेवाएं लेते हैं, ताकि वे समीक्षा करने में सलाह दे सकें।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll