Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज़

कोलकाता।   


अलग गोरखालैंड की मांग को लेकर दार्जीलिंग और उसके आसपास के इलाकों में चल रहे हिंसक हालत के बीच सोमवार को कुछ बेहतर नज़र आया, लेकिन तनाव अब भी बरक़रार ही है। इन सोमवार को दार्जीलिंग की सड़कों पर सन्नाटा छाया हुआ है और साथ ही गोरखा जनमुक्ति मोर्चा की बंदी अभी भी जारी है। दार्जीलिंग में चलने वाली टॉय ट्रेन भी ठप पड़ी है।



रविवार को गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने उन तीन लोगों की शवयात्रा निकाली थी, जो शनिवार को हुई हिंसक झड़प के दौरान मारे गए थे। मोर्चा का आरोप है कि ये तीनों लोग पुलिस फायरिंग में मारे गए थे। इस बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दोहराया था कि हिंसा की इस पूरी घटना के पीछे सोची-समझी साज़िश है। इस साज़िश का जिम्म्मेदार उन्होंने केंद्र सरकार को ठहराया था और कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार लोगों को न उकसाए।



गौरतलब है कि गोरखालैंड की मांग को लेकर दार्जीलिंग कई दिन से हिंसक घटनाओं की चपेट में है, और कई इलाकों में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच हिंसक झड़पें हुई हैं। शनिवार की हिंसक झड़प के बाद गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने पुलिस पर आरोप लगाया था कि उनके द्वारा की गई फायरिंग में तीन लोगों की मौत हुई, जिसके विरोध में रविवार को उन्होंने काला दिवस मनाने का फैसला किया था। हिंसा के बाद प्रशासन ने सख़्त फ़ैसला लिया था कि 25 जून तक किसी भी सार्वजनिक जगह पर तीन से ज़्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर पाबंदी लगाई जाए।


आपको बताते चलें कि शहर में चल रही हिंसा के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नीदरलैंड के दौरे पर जा रहीं हैं।


यह भी पढ़ें

सवालों पर भड़के लालू, दे डाली गाली 

सलमान का जंग पर बड़ा बयान, पढ़िए क्‍या कहा

"नौकरी नहीं, दोषियों पर कार्रवाई चाहिए"

..तो मोदी के सामने झुक गए केजरीवाल!

झारखंड में अब एक रुपये में होगी रजिस्‍ट्री

राहुल को इतनी जल्‍दी नानी याद आ गईं

सुनिए नवाज़ शरीफ का जवाब..... 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll