Home Top News China Again Blamed India For Supporting Terrorism In Baluchistan

लोया केस में SC के फैसले से अमित शाह के खिलाफ साजिश बेनकाब- योगी

POCSO एक्ट में संशोधन पर बोलीं रेणुका चौधरी- देर आए दुरुस्त आए

शत्रुघ्न सिन्हा बोले- त्याग और बलिदान की प्रतिमूर्ति हैं यशवंत सिन्हा

केंद्र सरकार अली बाबा चालीस चोर की सरकार है: शत्रुघ्न सिन्हा

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए AIADMK ने उतारे तीन प्रत्याशी

बलूचिस्तान में आतंकवाद को सपोर्ट कर रहा भारत...

Home | Last Updated : Oct 11, 2017 04:20 PM IST
   
China Again Blamed India for Supporting terrorism in Baluchistan

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

चीन ने एक बार फिर पाकिस्तान का साथ देते हुए भारत पर संगीन इल्जाम लगाए हैं। चीनी एक्सपर्ट ने दावा किया है कि पाकिस्तान के बलूच इलाके में जो भी आतंकवादी घटानाएं होती हैं उनके लिए भारत जिम्मेदार है। पाकिस्तान का बचाव करते हुए लिखा गया कि पाक से चलने वाले जितने भी आतंकी संगठन हैं उनका सीधा संपर्क वहां की सरकार से नहीं है।

 

लेख लिखने वाले एक्सपर्ट का नाम लोंग जिंगचुन है वह चीन की वेस्ट नॉर्मल यूनिवर्सिटी में मौजूद सेंटर फॉर इंडियन स्टडीज के डायरेक्टर हैं। उन्होंने ग्लोबल टाइम्स के लिए लिखे लेख में कहा कि भारत आतंकवाद पर दुनिया को दोहरे रवैए वाला कहता है लेकिन वह खुद पाकिस्तान के बलूचिस्तान में मौजूद अलगाववादी संगठनों का सपोर्ट करता है जो कि वहां आतंकी हमले करते हैं।

लेख में आगे लिखा गया है कि भारत में होने वाले ज्यादातर हमले कश्मीर के आतंकी संगठन नहीं बल्कि नॉर्थ ईस्ट में मौजूद अलगाववादी और माओवादी करते हैं। लेख में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज पर निशाना साधते हुए लिखा गया कि यूएन में पाकिस्तान को आतंकवाद से जोड़ना ठीक नहीं था। कश्मीर मुद्दे का जिक्र कर लिखा गया कि फिलहाल चीन कोई दखल नहीं दे रहा है लेकिन अगर कहा जाएगा तो वह मुद्दे को सुलझाने में मदद कर सकता है।

 

बता दें कि अगले महीने सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति फिर उस एप्लिकेशन को देखेगी जिसमें भारत ने मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने की बात कही है। इस मुद्दे पर यूएस, यूके और फ्रांस का सपोर्ट भारत को मिला हुआ है। अबतक चीन इसपर टांग अड़ाता रहा है।

 


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...