Actress Neha Dhupia on Her Pregnancy

दि राइजिंग न्यूज़

गुरुग्राम।

 

शहर के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच कर रही सीबीआइ ने आरोपी छात्र के इंटरनेट सर्फिंग रिकॉर्ड की जांच की। ऐसा माना जा रहा है कि सीबीआइ ने उसकी सोच के बारे में जानने के लिए ऐसा किया। इसके साथ ही हरियाणा पुलिस की SIT के चार सदस्यों से भी पूछताछ की गई है।

 

सूत्रों के मुताबिक, सीबीआइ नाबालिग छात्र के घर से कम्प्यूटर का एक हार्ड डिस्क, मोबाइल फोन और कुछ अन्य उपकरण जब्त किए थे। उनकी विषय वस्तु का विश्लेषण किया जा रहा था, ताकि उसकी सर्फिंग आदतों को समझा जा सके। इसका मकसद यह पता लगाना था कि आरोपी ने पीटीएम और परीक्षा टालने के लिए हत्या जैसा खतरनाक कदम क्यों उठाया।

आरोपी के पिता ने बताया कि सीबीआइ ने एक हार्ड डिस्क, एक मोबाइल फोन और कुछ अन्य गैजेट जब्त किए हैं। उन्होंने कोई संकेत नहीं दिया कि वे उसकी भूमिका की जांच कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सीबीआइ उनके बेटे को फंसा रही है। यदि किसी छात्र पर दोष मढ़ा जाएगा, तो स्कूल मैनेजमेंट मुआवजा नहीं देगा।

 

वहीं, यदि स्कूल के किसी कर्मचारी पर दोष जाता है, तो स्कूल प्रबंधन को मुआवजा देना होगा, सीबीआइ को पता नहीं है कि बस कंडक्टर अशोक कुमार कहां है। उन नौ मिनट में वह कहां था। उन्होंने सीबीआइ पर आरोप लगाए कि जुर्म कबूल करने के लिए वह उनके बेटे का उत्पीड़न कर रही है। पूरी प्रक्रिया से उनको दूर रखा गया है।

उधर, इस केस की जांच के दौरान सबूतों से छेड़छाड़ के आरोप में सीबीआइ की रडार पर आए हरियाणा पुलिस की SIT के चार सदस्यों से पूछताछ हुई है। SIT के चारों सदस्यों से पूछा गया कि किसी आधार पर बस कंडक्टर अशोक कुमार की गिरफ्तारी की गई थी। पुलिस के पास उसके खिलाफ क्या-क्या सबूत हैं और उनकी पुष्टि कैसे की गई थी।

 

आरोपी छात्र को फरीदाबाद के बाल सुधार गृह में रखा गया है। उससे मिलने के लिए उसके मां-बाप, बुआ और चाचा मंगलवार को पहुंचे। करीब 10 से 15 मिनट तक उससे मुलाकात की है। इस दौरान आरोपी छात्र ने परिवार से अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए कहा और साथ ही कुछ किताब भी मंगवाई है। परिजनों ने उसको कुछ जोड़ी कपड़े भी दिए हैं।

बाल सुधार गृह के अधीक्षक ने बताया कि बाल दिवस के मौके पर जेल में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें सभी बच्चे के साथ आरोपी छात्र ने भी हिस्सा लिया। फरीदाबाद के इस बाल सुधार गृह में इस समय अलग अलग मामलों में 84 बाल कैदी मौजूद हैं। आरोपी का परिवार अब शुक्रवार को उससे मिल सकता है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement