Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्यूज़

गांधीनगर।

 

गुजरात में चुनाव प्रचार अपने चरम पर है। पहले चरण की वोटिंग को अब चंद ही दिन बचे हैं। इसी बीच चक्रवात तूफान ओखी के कारण मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेताओं की चुनावी सभाओं को रद्द करना पड़ा।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर भाजपा कार्यकर्ताओं से चक्रवात से प्रभावित होने वाले लोगों की मदद करने की अपील की है। गुजरात में चक्रवात के आधी रात पहुंचने की उम्मीद है।

 

 

भाजपा की तरफ से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि अमित शाह की अमरेली के राजुला और भावनगर के महुवा और सिहोर में चुनावी रैलियों को रद्द कर दिया गया। चक्रवात को देखते कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मोरबी, धरंगधरा और सुरेंद्रनगर की रैलियों को रद कर दिया गया।

 

सुबह से हो रही हल्की बारिश के कारण भाजपा सांसद मनोज तिवारी का अहमदाबाद के बापुनगर क्षेत्र में होने वाला रोडशो भी रद्द कर दिया गया।  पार्टी के एक नेता ने कहा, भाजपा ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की रैली और प्रेस कॉन्फ्रेंस को भी स्थगित कर दिया।

 

 

वहीं सूरत में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की रैली को भी स्थगित कर दिया गया। कांग्रेस के पूर्व दिग्गज शंकरसिंह वाघेला भी मंगलवार रात गुजरात पहुंचने वाले थे लेकिन चक्रवात को देखते हुए उन्होंने भी अपनी योजना रद्द कर दी।

 

उधर, चुनाव आयोग ने गुजरात के मुख्य चुनाव अधिकारी से चक्रवात ओखी के मद्देनजर आकस्मिक योजना तैयार करने के लिए कहा है और यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा कि प्रभावित लोगों को मतदान केन्द्र तक पहुंचाने की व्यवस्था की जाए। राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने सूरत में अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने बताया कि मौसम विभाग से मिली सूचना के अनुसार चक्रवात ओखी सूरत में दस्तक दे सकता है।

 

 

पहले चरण के प्रचार का अंतिम दौर

आपको बता दें कि गुजरात में पहले चरण के लिए 9 दिसंबर को वोटिंग होगी, इसका मतलब की 7 दिसंबर को प्रचार बंद हो जाएगा। प्रचार के लिए अब दो ही दिन बचे हैं, ऐसे में अमित शाह की रैली का कैंसिल होना कुछ असर डाल सकता है। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने भी सोमवार को गुजरात में कई रैलियों को संबोधित किया था। दूसरी तरफ कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को गुजरात में ही रहेंगे, वह पूरे दिन कई सभाओं को संबोधित करेंगे।

 

 

ओखी के कारण दक्षिण भारत में अलर्ट

पिछले कुछ दिनों से देश के तटियों इलाकों को नुकसान पहुचाने के बाद ओखी तूफान सोमवार सुबह से गुजरात का रुख कर चुका है। गुजरात की ओर जाने से रायगढ़ सहित कोंकण का तटीय क्षेत्र सुरक्षित तो है लेकिन मौसम विभाग के अनुसार डर अभी भी बना हुआ है।

 

आपको बता दें कि ओखी पिछले कुछ दिनों से दक्षिण भारत में अपना कहर दिखा रहा है। साइक्लोन के अंदर उमड़-घुमड़ रही हवाओं के हिसाब से अब यह इसे अति भीषण साइक्लोन माना जा रहा है। इसमें 150 से 170 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही है और हवा के झोंकों की रफ्तार 180 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच जा रही है।

 

 

गुजरात में भी है खतरा

साइक्लोन सेंटर के मुताबिक, उत्तर महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात के समुद्र तटीय इलाकों में 4 दिसंबर की रात से लेकर 6 दिसंबर की सुबह तक 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 70 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की तेज हवाएं चलेंगी। इस वजह से इन इलाकों में समंदर में ऊंची-ऊंची लहरें उठेंगी।  लोगों को समुद्र तट से दूर रहने की सलाह दी गई है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement