Amitabh Bachchan on Z Plus Securities to Politicians

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए देशभर में गठबंधन की कवायद जोरों पर हैं। दिल्ली में भी काफी दिनों से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस का गठबंधन होने की अटकलें हैं, लेकिन दोनों तरफ से कोई बड़ी कोशिश नहीं हुई। सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट के बाद एक बार फिर गठबंधन की उम्मीद जागी है, हालांकि अरविंद केजरीवाल ने भी इस पर पलटवार किया है।

 

अहमद पटेल ने भी साफ दिया संदेश

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने सोमवार को कहा उनकी पार्टी दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) के साथ 4-3 फार्मूले के तालमेल वाले अपने रुख पर कायम है और अब फैसला आप को करना है। पटेल ने ट्वीट कर कहा, “हम स्पष्ट तौर पर कहना चाहते हैं। हमारी दिल्ली इकाई के विरोध के बावजूद कांग्रेस अध्यक्ष ने दिल्ली में आप के साथ तालमेल का फॉर्मूला निकालने के लिए स्थानीय नेताओं को मनाया। परंतु आप ने हरियाणा में भी सीटों की मांग पर जोर दिया।" उन्होंने कहा, “हमारा रुख स्पष्ट है, अब गेंद उनके पाले में है।”

राहुल-केजरीवाल में हुई थी ट्विटर वॉर

बता दें कि इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि उनकी पार्टी दिल्ली में आप के साथ गठबंधन करने को तैयार है, लेकिन अरविंद केजरीवाल फिर से यूटर्न ले रहे हैं। राहुल गांधी के जवाब में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि कौन सा U-टर्न? अभी तो बातचीत चल रही थी। आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है, मुझे दुःख है आप बयान बाज़ी कर रहे हैं। आज देश को मोदी-शाह के ख़तरे से बचाना अहम है। दुर्भाग्य कि आप UP और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बांट कर मोदी जी की मदद कर रहे हैं। दिल्ली की सात लोकसभा सीटों पर 12 मई को मतदान होना है।

 

किस यू-टर्न की ओर है इशारा?

आपको बता दें कि आम आदमी पार्टी की ओर से लगातार कांग्रेस के साथ गठबंधन की कोशिशें की जा रही थीं। अरविंद केजरीवाल कई मौकों पर कह चुके हैं कि भारतीय जनता पार्टी को हराने के लिए वह किसी भी पार्टी के साथ गठबंधन करने को तैयार हैं। केजरीवाल और AAP की तरफ से पहले मोदी-शाह की जोड़ी को रोकने के लिए किसी भी हद तक जाने की बात कही जा रही थी, लेकिन बात सीटों पर अटक गई। कांग्रेस चाह रही है कि गठबंधन सिर्फ दिल्ली में हो, तो वहीं AAP इस बात पर अड़ गई है कि वह दिल्ली के साथ-साथ पंजाब और हरियाणा में भी साथ में चुनाव लड़ना चाहती है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement