Home News Frolic The Future Of Students By Dr A P J Abdul Kalam Technical University Uttar Pradesh Lucknow

UP: गोरखपुर में शिक्षामित्रों और पुलिस के बीच झड़प

आंध्र प्रदेश के CM चंद्रबाबू नायडू ने शटलर PV सिंधू को ग्रुप-1 ऑफिसर नियुक्त किया

हरमनप्रीत और मिताली राज को रेलवे में मिलेंगे राजपत्रित अधिकारी के पद

गुजरात कांग्रेस के MLAs बलवंत सिंह और तेजश्री पटेल ने पार्टी से दिया इस्तीफा

रेलवे ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम की 10 खिलाड़ियों को 1.30 करोड़ नकद देने की घोषणा की

Trending :   #Hot_Photoshot   #Sports   #Politics   #Hollywood   #Bollywood

छात्रों के भविष्यों से खेल रही है एकेटीयू

Campus Corner Lucknow | 28-Oct-2016 02:52:52 PM            

  • अंजलि फॉर्मेसी कॉलेज के 60 छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ जारी
  • कॉलेज के 14 प्रमुख लोगों से की ‍शिकायत

Frolic the future of students by Dr  A P J Abdul Kalam Technical University Uttar Pradesh Lucknow



दि राइजिंग न्यूज

28 अक्टूबर, लखनऊ।

डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विवि में दलित उत्पीड़न व विनियमितीकरण और अनियमि‍तता के मामले में छात्रों के आंदोलन का खेल अभी थमा भी नहीं था कि अपनी दादागिरी दिखाने के लिए विवि प्रशासन ने फॉर्मेसी कॉलेज के 60 बच्चों का भविष्य अंधकारमय कर दिया। विवि ने छात्रों का पंजीकरण (ईआरपी लॉगिंग) ही लॉक कर ‍दिया। इसके बाद इन छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। कॉलेज ने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति सहित 14 देश के रखवालों के सामने इस मामले को उठाया है। जानकारों ने उम्मीद लगाई कि एक भी सम्मानित व्यक्ति ने संज्ञान लिया तो एकेटीयू के कारनामों की पोल खुलेगी।


बता दें कि आगरा के अंजलि कॉलेज ऑफ फॉर्मेसी करीब 30 साल इंजीनियरिंग व फॉर्मेसी कॉलेज से जुड़े हैं। अंजलि कॉलेज का बहुत सम्मान है। ऑल इंडिया काउंसिलिंग फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआइअीटीई) के जरिये वर्ष 1999 में फॉर्मेसी में 60 सीटों पर ‍दाखिले की अनुमति मिली। इसके बाद कॉलेज लगातार नित नयी ऊंचाइयां प्राप्त करता रहा है। 16 साल तक कोई परेशानी नहीं हुई लेकिन जबसे कुलपति प्रो.विनय पाठक ने चार्ज संभाला और कानपुर में अपने साथ रहे एके शुक्ला को एकेटीयू में उप कुलसचिव के रूप में ज्वाइन कराया। समस्या यहीं से शुरू होने लगी।


लगाया आरोप

अंजलि कॉलेज के चेयरमैन देवेन्द्र गुप्ता ने कहा कि कुलपति और एके शुक्ला मिलकर प्रदेश के 1200 कॉलेजों को डील कर रहे हैं। एक रैकेट चला रहे हैं और कॉलेजों से मनमाने तरीके से वसूली कर रहे हैं। हमसे भी पैसे मांगे और हमने मना कर दिया। इसके बाद मामला कोर्ट में चला गया लेकिन इन्होंने मुझे गलत तरीके से परेशान करना शुरू किया। कॉलेज को 60 सीटें मिली थी लेकिन दादागिरी दिखाते हुए 45 कर दी। जब पूछा तो कहने लगे कि कोर्ट जाइए बढ़ जाएगा। ईआरपी लॉगिंग लॉक होने से 60 छात्रों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। हमने प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, राज्यपाल के साथ 14 स्थानों पर शिकायत की है। चाहता हूं कि मामले में जांच हो जाए और जो दोषी हो उनको सजा मिले।


उप-कुल‍सचिव ने यह कहा

विवि के उप कुलसचिव से इस बारे में बात की गई तब उन्होंने कहा ‍कि उन्होंने जो आरोप लगाए वह निराधार है। कुछ कमियां पायी गईं। इस कारण लॉगिंग लॉक की गई है। अब कॉलेज जो काम करेगा इसकी सजा छात्र भुगतेंगे। हम इसके ‍जिम्मेदार नहीं है। मामले में हम भी यही चाहते हैं कि निष्पक्ष जांच हो।   

फेसबुक पर हमें फॉलो करें 

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

HTML Comment Box is loading comments...
Content is loading...

 

संबंधित खबरें


international-statement-on-kulbhushan-jadhav-case

 

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll

 

 

Rising Newsletter Newsletter

 

 

Flicker News


Most read news

 

Most read news

 

Most read news

उत्तर प्रदेश

खबर आपके शहर की