Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

रविवार को जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से भारी गोलीबारी की जा रही है। भारतीय सेना भी इस कार्रवाई का माकूल जवाब दे रही है। वहीं पाकिस्‍तान न ने इस साल जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के पास 720 से ज्यादा बार संघर्ष विराम उल्लंघन किया है। सीजफायर तोड़ने की यह घटना पिछले सात साल में सबसे अधिक है।

 

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने इस साल अक्टूबर तक अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के पास 724 बार संघर्ष विराम उल्लंघन किया है जबकि वर्ष 2016 में यह संख्या 449 थी।

 

 

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने आंकड़े का हवाला देते हुए कहा कि अक्टूबर तक सीमा पार से हुई गोलीबारी में कम से कम 12 स्थानीय नागरिक मारे गये और 17 जवान शहीद हो गये। इसके अनुसार सीमा पार से हुई गोलीबारी में कुल 79 स्थानीय नागरिक और 67 जवान घायल हुए। अंतरराष्ट्रीय सीमा, नियंत्रण रेखा और जम्मू कमश्मीर में वास्तविक जमीनी स्थिति रेखा (एजीपीएल) के पास भारत और पाकिस्तान के बीच युद्धविराम नवंबर 2003 में प्रभाव में आया था।

 

 

पाकिस्तान के साथ लगती भारत की 3,323 किलोमीटर लंबी सीमा रेखा है, जिसमें जम्मू कश्मीर में 221 किलोमीटर अंतरराष्ट्रीय सीमा और 740 किलोमीटर नियंत्रण रेखा से लगती है। साल 2016 में संघर्ष विराम उल्लंघन की 449 घटनाएं हुई थीं जिनमें 13 स्थानीय नागरिक मारे गये थे और 13 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गये थे। इसके अलावा इन घटनाओं में 83 स्थानीय नागरिक और 99 सुरक्षाकर्मी घायल भी हो गये थे।

 

 

साल 2015 में संघर्ष विराम उल्लंघन की 405 घटनाएं, साल 2013 में 347, साल 2012 में 114, साल 2011 में 62 और साल 2010 में 62 घटनाएं हुई थीं।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement