Priyanka Chopra Shares Her Experience of Health Issues

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

भारत सरकार को दाऊद इब्राहिम पर शिकंजा कसने की कवायद में एक कदम की बड़ी कामयाबी मिली है। 1993 मुंबई ब्लास्ट के आरोपी फारुक टकला को दुबई से भारत लाया गया है। फारुक टकला, 1993 ब्लास्ट में दाऊद का साथी रहा है। उसके खिलाफ 1995 में रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था। फारुक को मुंबई की टाडा कोर्ट में पेश किया जाएगा।

 

 

1993 में मुंबई धमाके के बाद फारुक दुबई भाग गया था। गुरुवार सुबह उसे दुबई से मुंबई लाया गया। पहले उसे सीबीआइ दफ्तर में ले जाया गया और अब उसे मुंबई की टाडा कोर्ट ले जाया जा रहा है। 57 वर्षीय फारुक के खिलाफ साजिश, मर्डर और आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप लगे हैं।

ब्‍लास्‍ट में 257 लोगों ने गवाईं थी जान

12 मार्च 1993 में मुंबई में एक के बाद एक 12 धमाके हुए थे, जिसमें 257 लोगों की मौत हुई थी और 700 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। इस मामले में 129 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया गया था। इसी केस में याकूब मेमन को 2015 में फांसी हुई थी। साल 2017 में टाडा कोर्ट ने इसी मामले में 100 लोगों को सजा सुनाई थी। वहीं ब्लास्ट का मास्टर माइंड दाऊद 1995 से ही फरार है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement