Deepika Padukone Turns As A Relative Of Arjun and Sonam After Marrying Ranveer Singh

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज के प्रमुख डॉक्टर प्रणव पांड्या का कहना है कि उन्हें कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष की शक्ल अच्छी नहीं लगती है। इसी वजह से वह उनसे मिलना नहीं चाहते हैं। यदि राहुल उनसे मिलने आते हैं तो वह एक आम आदमी की तरह ही मिलेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि राहुल का स्वागत-सत्कार नहीं किया जायेगा।

यहां भी राजनीति

गायत्री परिवार के प्रमुख द्वारा भाजपा अध्यक्ष को समर्थन ना देने की बात सामने आई है। जिसके बाद से माना जा रहा है कि जल्द ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता उनसे संपर्क साधने की कोशिश कर सकते हैं। चूंकि सवाल सीधे तौर पर 15 करोड़ और अप्रत्यक्ष तौर पर 25 करोड़ लोगों के वोटों का है इसीलिए दोनों ही बड़ी पार्टियां इस परिवार के वोट बैंक पर नजर लगाए हुए हैं। माना जा रहा है कि जल्द ही कांग्रेस अध्यक्ष गायत्री परिवार के प्रमुख से मुलाकात कर सकते हैं।

 

अमित शाह ने की थी मुलाकात

हालांकि पांड्या ने जिस तरह का बयान दिया है उस से इस बात की कम ही संभावना है कि राहुल उनसे मिलने आएंगे। जब अमित शाह पांड्या से मिलने के लिए गए थे तो उनका स्वागत किया गया था लेकिन जब उन्होंने 2019 के चुनाव में समर्थन मांगा को गायत्री परिवार के मुखिया ने उन्हें आश्वासन देने की बजाए यह कहकर पल्ला झाड़ लिया कि वह कोई फतवा जारी नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह अपने समर्थकों को भाजपा के समर्थन में अपने विवेक अनुसार वोट देने का संदेश देंगे।

मोहन भागवत भी पहुंचे थे मिलने

हालांकि संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिलने के बाद ना केवल डॉक्टर पांड्या के सुर बदल गए बल्कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष को लेकर विवादित बयान भी दे दिया है। इससे लग रहा है कि भाजपा के प्रति उनकी नाराजगी खत्म हो गई है। गायत्री परिवार के एक इशारे पर करोड़ों लोग वोट कर सकते हैं और शायद इसी वजह से भाजपा उन्हें ज्यादा देर तक नाराज रखने की जहमत नहीं उठा सकती है। इसी वजह से शाह के बाद मोहन भागवत उनसे विशेष तौर पर मिलने गए थे।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement