Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्यूज़

गैजेट डेस्क।

गूगल ने कुछ दिन पहले ही ऐलान किया था कि वह हैंगआउट को बंद करने जा रहा है, वहीं अब कंपनी ने अपने लोकप्रिय ऐप गूगल Allo को भी बंद करने जा रही है। गूगल ने ऐलो ऐप में इसी साल अप्रैल से निवेश करना बंद कर किया था। इन दोनों ऐप को बंद करने के बाद गूगल अपने एंड्रॉयड मैसेज ऐप पर अधिक ध्यान देगा। अभी हाल ही में एंड्रॉयड मैसेंजर में डेस्कटॉप का सपोर्ट दिया गया है।

 

गूगल ने इसी साल अप्रैल में ऐलो ऐप में निवेश बंद करने के बाद इस पर काम करने वाले लोगों को अन्य प्रोजेक्ट्स में ट्रांसफर कर दिया था और साथ ही ऐलो प्रोजेक्ट के कुछ लोगों को एंड्रॉयड मैसेज पर भी शिफ्ट किया गया है। इससे पहले गूगल ने हैंगआउट्स ऐप को 2020 तक बंद करने का ऐलान किया था।

अपने ब्लॉग ने गूगल ने लिखा है कि उनके मैसेजेज (Messages), मैसेजिंग एप को तकरीबन 175 मिलियन यूजर्स इस्तेमाल कर रहे हैं। इस एप पर ग्रुप चैट के अलावा हाई-रेज फोटो भेजे जा सकते हैं। इसके अलावा इसमें स्मार्ट रिप्लाई, जीआईएफ और डेस्कटॉप सपोर्ट भी दिया गया है। साथ ही कंपनी कई नए फीचर भी शामिल करने योजना बना रही है।  

 

आखिर क्यों बंद करना पड़ रहा है गूगल ऐलो

सबसे पहली बात यह है कि गूगल ऐलो में वीडियो कॉलिंग का फीचर नहीं है और साथ ही इस ऐप की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े किए गए हैं, क्योंकि यह एंड टू एंड इनक्रिप्टेड ऐप नहीं है। इसके जरिए आप कोई फाइल भी किसी को शेयर नहीं कर सकते, जबकि ऐलो के प्रतिद्वंदी व्हाट्सऐप जैसे ऐप में ये सभी फीचर्स मौजूद हैं।

ऐलो ऐप से अपने चैट का बैकअप कैसे लें

यह ऐप मार्च 2019 में बंद हो जाएगा उससे पहले आप अपने चैट का बैकअप ले लें। बैकअप के लिए ऐप की सेटिंग में जाएं और फिर चैट के विकल्प में जाएं। अब एक्सपोर्ट मैसेज का विकल्प चुनें।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement