Actress Alia Bhatt Reaction on Dating Ranbir Kapoor

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

महिला सुरक्षा हमेशा से ही देश में एक अहम मुद्दा रहा है। लगभग हर रोज महिलाओं से संबंधित कोई न कोई घटना सामने ​आ ही जाती है। ऐसे में महिलाओं को भी सुरक्षित रहने के लिए सतर्क व जागरूक रहने की आवश्यकता है। आए दिन महिलाओं के साथ हो रहे अपराध और यौन शोषण की घटनाओं से महिलाएं असुरक्षित महसूस कर रही हैं। आज लगभग हर किसी के पास स्मार्टफोन उपलब्ध है। यह स्मार्टफोन न सिर्फ आपके कम्यूनिकेशन का बेहतर बनाते हैं बल्कि आज महिलाओं की सुरक्षा में बेहद मददगार भी है।

टेक्नोलॉजी का भरपूर उपयोग

स्मार्टफोन में महिलाओं की सुरक्षा के लिए कई ऐप उपलब्ध हैं जिनके माध्यम से बस एक बटन प्रेस कर या फिर फोन को हिलाकर ही अपनी आपातकाल स्थिति की जानकारी दी जा सकती है। रोजमर्रा के काम से लेकर सुरक्षा तक, हर क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का भरपूर उपयोग किया जा रहा है।

बाजार में कई गैजेट्स और ऐप्स उपलब्ध हैं

महिलाओं की सुरक्षा के लिए बाजार में कई गैजेट्स और ऐप्स उपलब्ध हैं, जो महिलाओं की सुरक्षा को मजबूत बनाने में मदद कर सकते हैं। जिसमे पहनने वाले गैजेट विशेष रूप से प्रभावी साबित होते हैं। पहनने वाले गैजेट अधिक उपयोगी होते है, क्योंकि महिलाएं इसे कपड़ों में छिपाकर इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। बाजार में अलग-अलग गैजेट्स उपलब्ध है। कुछ गैजेट्स तो महिलाओं के आभूषण से मिलते-जुलते हैं। महिलाएं टेक्नोलॉजी के जरिए खुद की सुरक्षा का लाभ उठा सकती हैं।

सेफ्टीपिन (Safetipin)

महिलाओं के लिए बने सेफ्टी ऐप्स में यह सबसे अच्छा है। इसे पर्सनल सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है। इसमें जीपीएस ट्रैकिंग, इमर्जेंसी कॉन्टैक्ट नंबर और सेफ लोकेशन का रास्ता बताने जैसे सभी जरूरी फीचर हैं। इसमें सुरक्षित और असुरक्षित जगहें पिन (चिह्नित) की होती हैं। आप खुद भी इससे उन सुरक्षित जगहों को पिन कर सकते हैं, जहां पर कोई समस्या होने पर जा सकते हैं। आप इसमें अनसेफ जगहों को भी पिन कर सकते हैं, ताकि बाकी लोगों को उससे मदद मिल सके। सेफ्टीपिन इंग्लिश के अलावा हिंदी और स्पैनिश जैसी भाषाओं में भी उपलब्ध है।

सायरन (SIREN)

“सायरन” का इस्तेमाल किसी भी छोटी जगह में छिपाकर किया जा सकता है। इसकी आवाज 110 डेसीबल से भी अधिक होती है, जिसे 50 फीट की दूरी से सुना जा सकता है। सायरन की स्टाइलिश डिजाइन और आसान पहुंच कई स्थितियों में इसे इस्तेमाल करना और आसान बनाते हैं। 

सेफलेट (safelet)

“सेफलेट” को गति और सुविधा को ध्यान में रखते हुए डिजाइन किया गया है। खतरे की स्थिति में चेतावनी को देखने वाले दोस्त या परिवार के सदस्य इसके ऐप से आपातकालीन नंबर से संपर्क कर सकते हैं। इसमें होने वाली ऑडियो रिकॉर्डिंग का जुड़ाव सीधे उपयोगकर्ता के मोबाइल फोन के साथ होता है।

एथेना (Athena)

महिलाओं को आसानी से मदद करने में यह बहुत सहायक होता है। उपोगकर्ता के बटन दबाने पर इसमें जोरदार अलार्म बजाता है। इसके बाद उपयोगकर्ता के लोकेशन के साथ यह उपकरण उसके कॉन्टैक्ट को एक चेतावनी भेजता है, जो उनकी मदद कर सकते हैं। इस उपकरण को पर्स के साथ जोड़ा जा सकता है या हार की तरह पहना जा सकता है। उपयोगकर्ता इस डिवाइस को साइलेंट मोड में भी सेट कर सकते हैं, ताकि एथेना बिना किसी आवाज के कॉन्टैक्ट्स को जानकारी भेज सके।

रेवोलर (Revolar)

दूर से “रेवोलर” एक छोटे गेराज क्लिकर की तरह दिखता है। ओवल आकार और दो इंच से कम लंबाई के इस उपकरण को जीन्स की पॉकेट या अंदरूनी वस्त्र के साथ जोड़ा जा सकता है। या फिर इसे, चाबियों के गुच्छे में लगाया जा सकता है। दो बार दबाए जाने पर, रेवोलर नामित संपर्कों को “यलो अलर्ट” भेजता है। उपयोगकर्ताओं के संपर्क को स्थान के साथ एक संदेश प्राप्त होता है, जिसमें बताया जाता है कि उन्हें खतरे का डर है।  साथ ही तीन बार रेवोलर को दबाए जाने पर “रेड अलर्ट” भेजा जाता है, जो इंगित करता है कि उपयोगकर्ता को गंभीर मदद की आवश्यकता है। रेवोलर के लिए किसी अन्य ऐप को डाउनलोड करने की आवश्यकता नहीं है। 

#

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement