Jacqueline Fernandez is Upset From Salman Khan

दि राइजिंग न्‍यूज

खेल डेस्‍क।

 

डोप मामले में फंसने के बाद 15-15 लाख रुपये का जुर्माना नहीं भरने पर भारतीय कुश्ती संघ ने दो पहलवानों पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया। इनमें से एक पहलवान अपना दो साल का प्रतिबंध भी काट चुका है।

दिल्ली के जतिन ने साल 2016 में ताईवान में आयोजित एशियाई कैडेट कुश्ती चैंपियनशिप में 46 किलो में गोल्ड जीता था, लेकिन वाडा और यूडब्लूडब्लू की ओर से लिए सैंपल में जतिन डोप में फंस गए है। उम्र कम होने के कारण उन पर दो साल का प्रतिबंध लगाया गया, लेकिन यूडब्लूडब्लू ने कुश्ती संघ पर अंतर्राष्ट्रीय कंपटीशन में फंसने पर 15 लाख रुपये का जुर्माना ठोक दिया।

मनीष पर लगाया गया चार साल का प्रतिबंध

इसी तरह साल 2017 में हरियाणा के मनीष ने ताईवान में ही आयोजित एशियाई जूनियर कुश्ती चैंपियनशिप में ग्रीको रोमन के 50 किलो भार वर्ग में कांस्य पदक जीता, लेकिन बाद में वह भी पॉजिटिव पाए गए। यहां भी यूडब्लूडब्लू ने कुश्ती संघ पर 15 लाख रुपये का जुर्माना ठोक दिया। मनीष पर चार साल का प्रतिबंध लगाया गया, जो जारी है।

कुश्ती संघ ने दोनों ही पहलवानों से 15-15 लाख रुपये की राशि मांगी, लेकिन दोनों ने जुर्माना नहीं दिया। नतीजन कुश्ती संघ ने अपने पास से यह राशि भरी। अब जतिन का दो साल का प्रतिबंध पूरा हो गया है। वह कंपटीशन में उतरने की तैयारी कर रहे थे।

ऐसे हट सकता है आजीवन प्रतिबंध

इसका पता जब कुश्ती संघ को लगा तो उन्होंने दोनों ही पहलवानों को आजीवन प्रतिबंधित कर दिया। हालांकि, कुश्ती संघ के सचिव विनोद तोमर का कहना है कि अगर ये दोनों पहलवान जुर्माने की राशि चुका देते हैं तो उन पर लगा प्रतिबंध हटा दिया जाएगा।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll

Readers Opinion