Akshay Kumar and Priyadarshan Donated to Save Flood Affected People in Kerala

दि राइजिंग न्‍यूज

खेल डेस्‍क।

 

इंग्‍लैंड के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट के पहले दिन तीसरे सेशन में एक समय भारतीय टीम मुश्किलों में थी। मगर, कप्तान विराट कोहली द्वारा इंग्लैंड की पारी के 63वें ओवर में विपक्षी कप्तान जो रूट का रनआउट दो वजहों से खास रहा।

पहला इसलिए क्योंकि जिस समय जो रूट क्रीज पर थे इंग्लैंड की स्थिति बेहद मजबूत थी और उसका स्कोर 216 रन पर तीन विकेट था। रूट के आउट होते ही इंग्लैंड के अगले तीन विकेट महज 27 रनों के अंदर ही गिर गए।

विराट ने लिया बदला

दूसरा, भारतीय कप्तान विराट कोहली ने वनडे सीरीज के दौरान रूट के बल्ला गिराकर मनाए गए जश्न पर अपना बदला ले लिया। दरअसल, 17 जुलाई को वनडे सीरीज के आखिरी मुकाबले में रूट ने शतक पूरा कर विराट की ओर देखते हुए हाथ से अपना बल्ला गिराया। शायद वह ऐसा कर जताना चाहते थे कि टेस्ट सीरीज में भी उनका यही फॉर्म बरकरार रहेगा।

कोहली अपना हिसाब हमेशा बराबर रखते हैं। उन्होंने आखिरी सेशन में रूट को अपने शानदार डायरेक्ट थ्रो पर रन आउट कर शतक से महरूम कर दिया। साथ ही अपने ही अंदाज में जश्न मना कर 17 दिन बाद ही रूट से वनडे सीरीज का अपना बदला भी पूरा कर लिया।

 

 

विराट के सटीक निशाने का शिकार बने रूट

रूट बड़ी पारी की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन कोहली के सटीक निशाने का शिकार बनकर 80 रन बनाने के बाद रन आउट हुए। रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर रूट दूसरा रन चुराने के लिए दौड़े, लेकिन कोहली ने तेजी से दौड़ लगाते हुए गेंद उठाई और तुरंत वापस फेंकते हुए गेंदबाजी छोर पर सटीक निशाने पर इंग्लैंड के कप्तान को रन आउट कर दिया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll