Rani Mukerji to Hoist the National flag at Melbourne Film Festival

दि राइजिंग न्यूज़

खेल डेस्क।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट में जब करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमी टीम इंडिया को जिताने की उम्मीद कर रहे थे, तभी एक बार फिर से इन घर के शेरों ने क्रिकेटप्रेमियों को गमगीन कर दिया।

चलिए हम आपको टीम इंडिया केपटाउन में बेहद ही खराब और शर्मसार करने वाले प्रदर्शन के पीछे के पांच कारणों:-

बीसीसीआइ की खराब शेड्यूलिंग

वास्तव में यह एक सवाल है कि सबसे मुश्किल दौरे के लिए बीसीसीआइ  ने टीम इंडिया के लिए ऐसा कार्यक्रम निर्धारित क्यों नहीं किया, जिससे कम से कम उन्हें तीन-तीन दिन के दो अभ्यास मैच खेलने को मिलते। तीन तो छोड़िए दुनिया का सबसे धनी बोर्ड अपने खिलाड़ियों के लिए एक तीन दिनी प्रैक्टिस मैच भी निर्धारित नहीं करा सका।

इकलौता दो दिनी प्रैक्टिस मैच रद्द करना पड़ा भारी

क्रिकेट में कहा जाता है कि एक प्रैक्टिस मैच कई नेट अभ्यास सेशन के बराबर होता है। टीम इंडिया को मेजबान लोकल टीम के साथ एक दो दिनी प्रैक्टिस मैच खेलना था, लेकिन टीम इंडिया के अनुरोध पर बीसीसीआइ ने यह मैच भी रद्द करवा दिया। दरअसल विराट एंड कंपनी ने नेट अभ्यास को ज्यादा तरजीह दी। इस अभ्यास से कितना फायदा मिला, यह आपके सामने है।

अजिंक्य रहाणे की अनदेखी क्यों?

यह सही है कि पिछले दिनों अजिंक्य रहाणे का बल्ला वनडे में नहीं बोला है, लेकिन अगर यह कहा जाए कि वह विदेशी धरती पर तकनीकी रूप से भारत के चुनिंदा सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं, तो बिल्कुल भी गलत नहीं ही होगा। अजिंक्य रहाणे का दक्षिण अफ्रीकी धरती पर 69.66, ऑस्ट्रेलिया में 57.00, वेस्टइंडीज में 121.50 और न्यूजीलैंड की पिचों पर 54.00 का औसत रहा है। ऐसे में उनके पुराने प्रदर्शन और तकनीक को जरूर ध्यान में रखा जाना चाहिए थे।

नहीं मिली ठोस शुरुआत

दोनों ही पारियों में दोनों ही ओपनर बिल्कुल भी विश्वसनीय दिखाई नहीं पड़े। शिखर धवन के पहली पारी में खेला गया गैरजिम्मेदारना शॉट अभी भी क्रिकेटप्रेमियों को अखर रहा है, तो मुरली विजय को केपटाउन में पता ही नहीं चला कि कौन सी गेंद खेलनी है और कौन सी छोड़नी है। टीम इंडिया को ठोस शुरुआत न मिल पाना भी केपटाउन में हार का  सबब बना।

रोहित व विराट की नाकामी

पिछले दिनों श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीजी में रिकॉर्डों की बारिश करने वाले रोहित शर्मा को पेस और उछाल के सामने एक बार फिर से सांप सूंघ गया। और यह साफ बता गया कि जब बात विदेशी पिच पर बैटिंग की आती है, तो आज भी उनकी क्षमताओं  पर  ठीक वैसे ही सवाल हैं, जैसे कई साल पहले हुआ करते थे। जहां घरेलू मैदान पर टेस्ट में रोहित शर्मा का औसत 85.44 रहा है, तो विदेशी जमीं पर उनका औसत 25.11 रहा है। इस विदेशी जमीन में श्रीलंका और बांग्लादेश भी शामिल हैं। वहीं सभी क्रिकेटप्रेमियों को उम्मीद थी कि विराट का बल्ला जरूर बोलेगा, लेकिन केपटाउन में विराट कोहली भी एक छोर को थाम कर नहीं रख सके। दूसरी पारी में उनके पास एक ऐतिहासिक मौका था, लेकिन यह भी जाया चला गया।

कुल मिलाकर घर के शेर केपटाउन में पूरी तरह ढेर साबित हुए। नए साल और दौरे की शुरुआत एक ऐसी शर्मनाक हार के साथ हुई है, जिससे टीम इंडिया पर गहरा असर जरूर पड़ेगा। अब कोहली एंड कंपनी इससे कैसे निपटती है, यह देखने वाली बात होगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll