Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्‍यूज

खेल डेस्‍क।

 

भारत के लिए आखिरी बार 2011 में इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले एक तेज गेंदबाज ने संन्‍यास लेने का ऐलान कर दिया है। मुनाफ पटेल ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से संन्यास का ऐलान कर दिया है। मुनाफ पटेल 2011 में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया का हिस्सा थे और उन्होंने टीम को वर्ल्ड कप में जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की थी। इसके बाद से खराब फिटनेस की वजह से वो टीम से बाहर हो गए थे और फिर टीम में वापसी नहीं कर पाए।  

मुनाफ का जन्म गुजरात के भरूच जिले के इकहर गांव में 12 जुलाई 1983 को हुआ। मुनाफ ने इंग्लैंड के खिलाफ मार्च 2006 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। मुनाफ ने अपने पहले ही मैच में 97 रन देकर सात विकेट लिए थे और अपनी रफ्तार से सनसनी मचा दी थी। अपने करियर की शुरुआत में मुनाफ 145 से अधिक की स्पीड से गेंद डालते थे।

वर्ल्‍ड कप में लिए थे 11 विकेट

मुनाफ ने 2011 वर्ल्ड कप में जहीर खान और युवराज सिंह के बाद सबसे ज्यादा 11 विकेट लिए थे। इसमें सेमीफाइनल मैच में पाकिस्तान के खिलाफ उनकी परफॉर्मेंस को आज भी याद किया जाता है। इस मैच में उन्होंने 40 रन देकर दो विकेट लिए थे। मुनाफ अब अपना ध्यान क्रिकेट कोचिंग पर लगाना चाहते हैं। इसके अलावा यूएई में होने वाले टी-10 लीग में भी वह हिस्सा लेंगे।

एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत करते हुए मुनाफ ने कहा, मुझे कोई अफसोस नहीं है। मैं जितने भी क्रिकेटर के साथ खेला, उसमें धोनी के अलावा सब रिटायर हो चुके हैं। सबका समय पूरा हो चुका है, गम तब होता जब सब खेल रहे होते और मैं रिटायर होता।  

वर्ल्‍ड कप विजेता टीम का हिस्‍सा थे मुनाफ

मुनाफ पटेल ने अपना आखिरी टेस्ट जुलाई 2011 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था और आखिरी वनडे उन्होंने 2011 में ही इंग्लैंड के खिलाफ कार्डिफ में खेला था। मुनाफ ने अपना टी-20 इंटरनेशनल डेब्यू जनवरी, 2011 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ किया था और उसी साल अगस्त में इंग्लैंड के खिलाफ अपना आखिरी टी-20 इंटरनेशनल भी खेला था। मुनाफ पटेल 2011 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम का भी हिस्सा थे।  

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement