Home Sports News Kerala High Court Restores Lifetime Ban Imposed On S Sreesanth

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान सीजफायर उल्लंघन में एक और नागरिक की मौत

हम शहीदों के परिवार के लिए कुछ भी करें वो हमेशा कम ही रहेगा: राजनाथ सिंह

केंद्र सरकार लोकतंत्र की हत्या करने में जुटी है: संजय सिंह

ममता ने PM से की विवेकानंद- बोस जन्मदिवस को नेशनल हॉलिडे घोषित करने की मांग

J&K में हमारी सेना, पैरा और पुलिस समन्वय से कर रही आतंकियों का सफाया: राजनाथ

श्रीसंत को झटका, केरल हाईकोर्ट ने फिर लगाया आजीवन प्रतिबंध

Sports | 17-Oct-2017 09:15:21 | Posted by - Admin
   
Kerala High Court Restores Lifetime Ban Imposed On S Sreesanth

दि राइजिंग न्‍यूज

खेल डेस्‍क।

 

तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को केरल हाईकोर्ट ने मंगलवार को बड़ा झटका दिया है। आइपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में केरल हाईकोर्ट ने अपने फैसले को पलटते हुए एक बार फिर श्रीसंत पर बीसीसीआई द्वारा लगाए आजीवन प्रतिबंध को बहाल कर दिया।

 

इसी साल अगस्त में केरल हाईकोर्ट ने क्रिकेटर श्रीसंत को राहत देते हुए बीसीसीआई के द्वारा लगाए आजीवन प्रतिबंध को खत्म कर दिया था। इसके बाद बीसीसीआई ने कोर्ट से इस मामले पर फिर से विचार करने की अपील करते हुए याचिका दायर की थी। इसी पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मंगलवार को फैसला सुनाया है।

 

18 सितंबर को कोर्ट में दायर अपील में बीसीसीआई ने कहा था कि साक्ष्यों के आधार पर कार्रवाई की गई थी। बीसीसीआई ने अपनी याचिका में तर्क दिया था कि कोर्ट केवल इस बिनाह पर श्रीसंत पर लगाए गए प्रतिबंध को नहीं हटा सकता कि दिल्ली की एक निचली अदालत ने उसे दोषमुक्त करार दिया है। बीसीसीआई की ओर से अपनी दायर करते हुए सीईओ जौहरी ने कहा, जिन सबूतों के आधार पर किसी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है उन्हीं के आधार पर उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई।

 

चीफ जस्टिस नानावती प्रसाद सिंह और जस्टिस राजा विजयराघवन ने बीसीसीआई की याचिका पर सुनवाई करते हुए फैसला सुनाया। डिविजन बेंच ने कहा कि प्राकृतिक न्याय का उल्लंघन नहीं हुआ है और श्रीसंत के पक्ष में दिए गए एक सदस्यीय बेंच के आदेश को रद्द कर दिया।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news