Pati Patni Aur Woh Release on 6 December

दि राइजिंग न्‍यूज

 

हिंदू पंचांग के मुताबिक, प्रत्‍येक माह कृष्ण पक्ष को आने वाली चौथ को संकष्टी गणेश चतुर्थी कहा जाता है। यदि गणेश चतुर्थी का यह व्रत मंगलवार के दिन पड़ता है, तो इसे अंगारक गणेश चतुर्थी कहते हैं। मान्यता है कि गणेश जी ने अंगारक (मंगल देव) की कठिन तपस्या से खुश होकर उन्हें ये वरदान दिया था कि चतुर्थी तिथि अगर मंगलवार को पड़े तो उसे अंगारकी चतुर्थी के नाम से जाना जाएगा।

इस एक खास दिन पर व्रत करने से पूरे साल भर के चतुर्थी व्रत का फल मिलता है। आइए जानते हैं अंगारक चतुर्थी के दिन कैसे करें भगवान गणेश को प्रसन्न-

  • इस दिन व्रतधारी लाल रंग के वस्त्र धारण करें।

  • पूजा करते समय अपना मुंह पूर्व अथवा उत्तर दिशा की ओर रखें।

  • पांच दुर्वा गणेश जी को अर्पित करें।

  • गणेश जी को लाल सिंदूर से तिलक करें।

  • तिल से बनी चीजों से गणेश जी को भोग लगाएं।

  • गणेश जी को लाल वस्त्र भेंट करें।

  • पांच बेसन के लड्डू का भोग लगाएं।

  • पान सुपारी अर्पित करें।

  • व्रत रखने वाले लोग सायंकाल में संकष्टी गणेश चतुर्थी की कथा पढ़े या सुनें और दूसरों को भी सुनाएं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement