Sapna Chaudhary Joins Congress

दि राइजिंग न्‍यूज

 

मंगलवार को हनुमान जी की पूजा की जाती है, इससे सारे कष्‍ट दूर हो जाते हैं। कोई भी मनोकामना हो बस आप बजरंग बली की पूजा कर लें, सारे दु:ख दर्द से छुटकारा मिल जाता है। वैसे तो भगवान कोई भी हों महिला और पुरुष एक समान रूप से उनकी पूजा कर सकते हैं, परंतु पवनपुत्र की पूजा में महिलाओं के लिए कुछ विशेष नियम बनाये गए हैं।

स्‍त्रियों का हनुमान जी की उपासना करना पूरी तरह से वर्जित तो नहीं है, लेकिन हां कुछ चीजें ऐसी हैं कि जिनका पालन स्‍त्रियों को करना पड़ता है। माना जाता है कि राम भक्‍त हनुमान स्‍त्रियों को माता स्‍वरूप मानते हैं ऐसे में कोई महिला उनके चरणों के सामने झुके, वह उन्‍हें पसंद नहीं आता। हनुमान जी ब्रह्मचारी हैं।

किन बातों की है आज्ञा

  • दीप अर्पित कर सकती हैं।

  • गुग्गल की धूनी रमा सकती हैं।

  • हनुमान चालीसा, संकट मोचन, हनुमानाष्टक, सुंदरकांड आदि का पाठ कर सकती हैं।

  • हनुमान जी का भोग प्रसाद अपने हाथों से बनाकर अर्पित कर सकती हैं।

ये कार्य हैं निषिद्ध

  • लंबे अनुष्ठान नहीं कर सकती। इसके पीछे उनका राजस्वला होना और घरेलू उत्तरदायित्व निभाना मुख्य कारण है।

  • रजस्वला होने पर हनुमान जी से संबंधित कोई भी कार्य नहीं कर सकतीं।

  • हनुमान जी को सिंदूर अर्पित नहीं कर सकती हैं।

  • हनुमान जी को चोला भी नहीं चढ़ा सकतीं।

  • बजरंग बाण का पाठ नहीं करना चाहिए।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement