Home Spiritual Right Way Of Shivling Worship

बीजिंग: सुषमा स्वराज ने किर्गिजस्तान के विदेश मंत्री से मुलाकात की

अमरेली: SP जगदीश पटेल को CID क्राइम ने पूछताछ के लिए हिरासत में लिया

VHP अध्यक्ष कोकजे बोले- राम मंदिर पर हमारे पक्ष में आएगा फैसला

वेंकैया नायडू ने CJI के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव के नोटिस को खारिज किया

आज महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगी कांग्रेस

ये है शिवलिंग की परिक्रमा का सही तरीका...

Spiritual | Last Updated : Jan 09, 2018 12:15 PM IST
   
Right Way Of Shivling Worship

दि राइजिंग न्‍यूज

 

भगवान भोले नाथ का मन अपने भक्त के थोड़ी से ही कष्ट से दु:खी हो जाता है और वह उनकी हर मनोकामना पूरी कर देते हैं। वहीं अगर नाराज होते हैं तो रूद्र बन जाते हैं।

 

 

अगर आप भी भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए शिवलिंग की पूजा करने के बाद इस तरीके से परिक्रमा लगाते हैं तो सावधान हो जाएं। अगर आप परिक्रमा के दौरान शिवलिंग के चारों ओर घूम रहे हैं तो आप भी वही गलती कर रहे हैं जिससे भगवान शिव नाराज होते हैं।

 

 

  • शिव पुराण के अनुसार शिवलिंग की परिक्रमा के दौरान आधी परिक्रमा करें और फिर वापस लौटकर दूसरी परिक्रमा करनी चाहिए।

  • शिवलिंग के चारों ओर घूमकर परिक्रमा करने से दोष लगता है और व्यक्ति पुण्य के बजाय पाप का भागी बनता है।

  • दरअसल, शिवलिंग के नीचे का हिस्सा जहां से शिवलिंग पर चढ़ाया गया जल बाहर आता है वह पार्वती का भाग माना जाता है। इसलिए आधी परिक्रमा करें फिर वापस लौटकर दूसरी परिक्रमा करनी चाहिए।

  • शिव पुराण के अनुसार कोई भी शिवलिंग की जल की निकासी यानी कि निर्मली को लांघेगा वह पापी कहलाएगा और उसके भीतर की शक्ति छीन ली जाती है। इसलिए निर्मली तक परिक्रमा करनी चाहिए, यानी की आधी परिक्रमा।


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...